May 18, 2022

टॉप-टेन अपराधी के साथ हुक्का पीना दारोगा को पड़ा महंगा-

Spread the love

*टॉप-टेन अपराधी के साथ हुक्का पीना दारोगा को पड़ा महंगा*

*हुक्का पीते वायरल हुआ था वीडियो*

 

*कानपुर*। कानपुर में शातिर अपराधी अंकित लाला का कारखास क्राइम ब्रांच का दरोगा (सर्विलांस प्रभारी) मोहम्मद आसिफ को निलंबित कर दिया गया। दरोगा का अंकित लाला के साथ हुक्का पीते वीडियो वायरल हुआ था। इसके अलावा एसीपी बाबूपुरवा के नेतृत्व में दरोगा की विभागीय जांच कराई जाएगी। इस संबंध में ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने आदेश जारी कर दिया है। मोहम्मद आसिफ टॉप-10 अपराधी अंकित लाला का बेहद करीबी है। वह उसके आर्य नगर स्थित ड्रामा रेस्टोरेंट में हुक्का पीने जाता रहता है। इसी दौरान एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मोहम्मद आसिफ को निलंबित कर दिया। ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर ने बताया कि एसीपी बाबूपुरवा आलोक सिंह मामले की विस्तृत जांच करेंगे।

मामले में समाजवादी पार्टी ने किया ट्वीट-टॉप-10 अपराधी के साथ दरोगा के हुक्का पीने के मामले में समाजवादी पार्टी की ओर से ट्वीट किया गया है। लिखा कि- अपराधियों के साथ हुक्का पी रहा क्राइम ब्रांच का दरोगा तो भला कैसे रूके यूपी में अपराध! कानपुर में अपराधी के साथ हुक्का पीते क्राइम ब्रांच के दरोगा की वायरल तस्वीर पुलिस महकमे पर धब्बा है। अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति महज दिखावा है। दरोगा के खिलाफ हो कार्रवाई।

दरोगा पर गंभीर आरोप, बचने का किया प्रयास-मोहम्मद आसिफ काफी समय से क्राइम ब्रांच और स्वाट टीम में रहा है। कई बार उस पर आरोप लगे, लेकिन किसी ने कार्रवाई नहीं की। बजरिया में रहने वाले शातिर अपराधी के सगे छह भाइयों से भी उसकी नजदीकी है। ये भाई मवेशियों की तस्करी करते हैं। इसमें भी संरक्षण देने की आशंका है। वहीं चकेरी, बेकनगंज, चमनगंज, बाबूपुरवा जैसे इलाकों में उसका दबदबा है। अपराधी उसके करीबी हैं। हालांकि दरोगा का कहना है कि अंकित मुखबिर है। उसकी सूचना पर कई गुडवर्क किए हैं। इसलिए उससे मिलने जाता हूं।

*अपराधी पर कार्रवाई की तैयारी*

अंकित लाला पर 13 केस दर्ज हैं। इसमें चोरी के पांच केस, हत्या के प्रयास के दो, आर्म्स एक्ट के दो, दो बार गुंडा एक्ट की कार्रवाई के साथ गैंगस्टर भी लगा है। आखिरी बार वह 2020 में कलक्टरगंज थाने से आर्म्स एक्ट के तहत जेल भेजा गया था। जेल से छूटने के बाद वह रेस्टोरेंट में सुबह तक महफिल चलाता है। प्रतिबंध के बावजूद हुक्का भी चलवाता है। अब उस पर कार्रवाई की तैयारी है।

विजय सिंह मीणा, पुलिस कमिश्नर ने बताया कि अपराधियों के साथ पुलिसकर्मियों की संलिप्तता बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसमें भी कठोर कार्रवाई होगी। अपराधी को भी किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा।