July 17, 2024

टाटा कम्पनी द्वारा भूमिगत बिजली तार डाले जाने के दौरान सात दिनों पूर्व टूटी सीवर पाइप लाइन

Spread the love

वाराणसी  सात दिनों पूर्व टूटी सीवर पाइप लाइन का अब तक नही हुआ मरम्मत कार्य 10 फिट की गली में विधुत आपूर्ति के लिए 16 पाइप का डाला जाना समझ से बाहर दुर्गंधयुक्त पानी के बीच क्षेत्रीय लोग नारकीय जीवन जीने को मजबू मच्छरों के पनपने से संक्रमण फैलने की आशंका वाराणसी। पंचकोशी मार्ग महावीर रोड़ स्थित भारत हॉस्पिटल वाली गली में टाटा कम्पनी द्वारा भूमिगत तार डाले जाने के दौरान सात दिनों पूर्व सीवर पाइप टूटने से गलियो में गंदा पानी भर रहा है और कई दिनों से गंदा पानी बहने से आस पास स्थित मकानों के नींव को भी खतरा उत्प्नन हो गया है। तार डाले जाने को लेकर हफ़्तो से गली खोद दिए जाने से क्षेत्रीय नागरिको व छोटे स्कूली बच्चों को आने जाने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्रीय लोगो का आरोप है कि टाटा कम्पनी द्वारा महाशिव रात्रि पर्व के दिन ही गली में भूमिगत तार डालने का काम लगाया गया था। तार डालने के दौरान ही सीवर लाइन टूट गई। लगातार पांच दिनों से हम सभी क्षेत्रीय नागरिक टूटी पाईप लाइन को बनवाने के लिए बिजली ठिकेदार,सुपरवाइजर व जलकल जेई सहित टाटा कम्पनी के अन्य अधिकारियों से गुहार लगा चुके है लेकिन अब तक टूटी पाईप लाइन को नहीं बनाया गया। 10 फिट की गली में बिजली सप्लाई देने के लिए 16 पाइप लाइन को डाला जाना हम सभी लोगो की समझ से परे है। अगर इनको बिजली सप्लाई कई कालोनियों को देनी ही है तो मैन रोड से देना चाहिए था न की सकरी गली से। गलियों में आये दिन कही सीवर तो कही पेयजल पाइप लाइन टूट जाती है पेयजल पाइप लाइनो में भी कई स्थानों पर लीकेज हो रहा है।जिससे नागरिको को पानी के लिए इधर उधर भटकना पड़ रहा है। पीने के पानी के साथ सीवर का गंदा पानी भी लोगो के घरो में मिलकर आ रहा है। टूटे सीवर लाइन का मरम्मत न होने, पेयजल न मिलने व गलियो को कई दिनों से आवागमन के लिए बंद किये जाने से क्षेत्रीय लोगों में काफी आक्रोश है।