January 22, 2021

जिला भूमि एवं जल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न,- नवीन मिश्रा

Spread the love

।।गोण्डा-।।

जिला भूमि एवं जल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न, विभिन्न परियोजनाओं का हुआ अनुमोदन

मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल की अध्यक्षता में जिला भूमि एवंज ल संरक्षण समिति की बैठक सम्पन्न हुई जिसमें भूमि संरक्षण विभाग की विभिन्न परियोजनाओं का अनुमोदन हुआ।
समिति की बैठक में जिलाधिकारी ने लाभार्थी कृषकों से वार्ता कर योजनाओं के तहत किए गए कार्यों व उससे अर्जित लाभ एवं अनुभवों के बारे में पूछा। बैठक में भूमि संरक्षण अधिकारी द्वारा बताया गया कि मनरेगा योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 में 33.36 लाख रूपए की लागत की 05 राजकीय कृषि प्रक्षेत्र डोमाकल्पी परसपुर, कस्तुुआ झंझरी, कटहा तरबगंज, लक्ष्मनपुर व कल्यानुपर नवाबगंज का अनुमोदन हुआ। इसी प्रकार मनरेगा योजनान्तर्गत तालाब का जीर्णोद्धार, जल निकासी, नाले का जीर्णोद्धार एवं मेड़बन्दी केे अन्तर्गत 121.15 लाख रूपए की 13 परियोजनाओं असिधा, पारासराय, बमडेरा, गौसिंहा, बनगाई कूकनगर ग्रन्ट, छिटनापुर बेलवा बजाार नरायनपुर माफी सोनी हर लाल, हरदिहा सपौर तथा नकही की स्वीकृति हुई। स्पेशल प्रोजेक्ट के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 में 49.81 लाख की 02 परियोजनाओं क्रमशः झाली धाम रूपईडीह व कृृयिा विज्ञान केन्द्र महेवानानकार मनकापुर का अनुमोदन समिति द्वारा किया गया।
जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि भूमि एवं जल संरक्षण के तहत कराए गए कार्यों का सत्यापन करा लें तथा जहां पर बेहतर कार्य हुए हों उन्हें सक्सेज स्टोरी के तौर प्रोजेक्ट किया जाय, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग प्रेरित हों और लाभ ले सकें। ग्रामीण अवस्थापना विकास कोष (नाबार्ड) योजनान्तर्गत वर्तमान वित्तीय वर्ष 2020-21 में 118.44 लाख रूपए की लागत की 07 परियोजनाएं पठान पुरवा नवाबगंज, मरौचा मनकापुर, परसैहना नवाबगंज, बगदर ग्रंट-2 छपिया, छब्बीसवां रूपईडीह तथा कोटीया व हरईया घाट बभनजोत के समोच्य रेखीय बांध, मार्जिनल बांध, समतलीकरण, फसलोत्पादन कृषि वानिकी तथा पक्का कार्यों की स्वीकृति हुई। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि स्वीकृत कार्यों को निर्धारित समयावधि में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराएं। बैठक में पण्डित दीन दयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना की भी गहन समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी, जिला भूमि संरक्षण अधिकारी सदानन्द चाौधरी, उपनिदेशक कृषि डा0 मुकुल तिवारी, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, जिला उद्यान अधिकारी मृत्युन्जय सिंह, जिला पंचायतराज अधिकारी सभाजीत पाण्डेय, अजीत सिंह, अग्रणी कृषक रवि शंकर सिंह पवन सहित अन्य अधिकारी व लाभार्थी कृषक उपस्थित रहे।