February 28, 2024

जिलाधिकारी ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश-

Spread the love

वाराणसी/दिनांक 06 सितम्बर 2022 (सू0वि0)

 

*जिलाधिकारी ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश*

 

*ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष स्वच्छता अभियान चलाया जाए*

 

*जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी विद्यालयों में समुचित साफ-सफाई एवं स्वच्छता सुनिश्चित कराये*

 

*जिलाधिकारी ने प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों का बहुमुखी विकास एवं ज्ञान दिए जाने पर दिया विशेष जोर*

 

*प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों को निर्धारित कोर्स के अलावा सामान्य ज्ञान की समुचित जानकारी दिया जाय-जिलाधिकारी*

 

*बच्चों का सामान्य ज्ञान क्विज कंपटीशन स्कूल, ब्लॉक, तहसील एवं जनपद स्तर पर कराए-कौशल राज शर्मा*

 

*जिलाधिकारी ने जर्जर आंगनबाड़ी भवनों के पुनर्निर्माण हेतु 2 दिन के अंदर रिपोर्ट तलब किया*

 

*31 सितंबर तक जनपद में सिंगल यूज प्लास्टिक पूरी तरीके से बंद होना चाहिए-डीएम*

 

*सिंगल यूज प्लास्टिक के निर्माता एवं आपूर्तिकर्ता के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई सुनिश्चित कराएं*

 

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि रुटीन कार्यों के अलावा तीन नये कार्य जो कराये जा सकते हैं और उसे कैसे इम्लिमेंट कराया जायेगा उनका विवरण 15 दिनों में तैयार करा प्रस्तुत करें। उन्होंने बताया कि विभागों का ग्रुप बनाया गया है। जिसमें हैण्डलूम, हैण्डीक्राफ्ट विभागों का ग्रुप, समाज कल्याण विभाग ग्रुप जिसमें विकलांग कल्याण, प्रोबेशन, अल्पसंख्यक कल्याण, श्रम कल्याण व अन्य सम्बन्धित विभाग, कृषि विभाग का ग्रुप जिसमें रेशम,पशु चिकित्सा,भूमि संरक्षण, कोआपरेटिव, सिंचाई व अन्य सम्बन्धित विभाग जोड़े गये हैं।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने मंगलवार को विकास भवन सभागार में विभागीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यों के प्रगति की मासिक समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने सेवापुरी माडल ब्लाक के अनुसार अगले दो माह में अन्य सभी ब्लाकों को विकसित करने पर जोर देते हुए बुधवार से ही कार्य शुरू कराने का निर्देश दिया। पब्लिक ओरिएंटेड कार्य पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया। विभागीय डाटा अपडेट कराने, क्लस्टर की प्लानिंग बेहतर ढंग से तैयार कराने, ब्लाक स्तरीय कर्मचारियों की ट्रेनिंग, ग्राम प्रधानों की ट्रेनिंग, सफाई कर्मचारीयों का रोस्टर, क्वालिटी सर्विस इंडिकेटर के डाटा कलेक्शन व उनके अनुसार कार्य कराना, परिवार रजिस्टर हर ब्लाकों पर तैयार करा कर उसे कम्प्यूटराइज कराना उसे हर 6 माह पर अपडेट करना, आश्रम पद्धति में रूटीन के अलावा अतिरिक्त कार्य का विवरण तैयार करना, बाल ग्रह से सम्बन्धित नये कार्य कराने की कार्य योजना तैयार करने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी विभागीय पटलों का डाटा अपडेट करने पर जोर देते हुए विभाग, तहसील ब्लाक आदि पर शिकायत पटल को सक्रिय रुप से संचालित करने का निर्देश दिया और हर माह में प्राप्त शिकायतों को माह के अंत तक डिस्पोज़ करके शून्य करने को कहा। सभी प्रकार के लाभार्थियों का डाटा वेरिफाई व करेक्शन कराने और आधार कार्ड से लिंक कराने का निर्देश दिया। जिनके आधार कार्ड लिंक नहीं हैं, उनके फार्म निरस्त करके पुनः फार्म भरवा कर अपडेट करायें।

इसी क्रम में उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अंतर्गत जिला स्वच्छता समिति की बैठक के दौरान डेंगू आदि संक्रामक रोगों से बचाव के लिए खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष स्वच्छता अभियान चलाया जाए। इसके अलावा उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि विद्यालयों में समुचित साफ-सफाई एवं स्वच्छता सुनिश्चित कराई जाएं और डेंगू से बचाव के एहतियाती जानकारी बच्चों को बताया जाए। किसी भी सरकारी कार्यालयों में गंदा पानी एकत्र न होने पाए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी अपने टीम से सरकारी कार्यालयों का निरीक्षण कराये और जहां भी गंदा पानी का ठहराव पाया जाए उन पर जुर्माना भी लगाया जाए। ऑपरेशन कायाकल्प की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों को निर्धारित कोर्स के अलावा सामान्य ज्ञान की समुचित जानकारी दिया जाना सुनिश्चित किया जाए। बच्चों का सामान्य ज्ञान क्विज कंपटीशन स्कूल, ब्लॉक, तहसील एवं जनपद स्तर पर कराए जाने का निर्देश दिया। टीचर पेरेंट्स मीटिंग अनिवार्य रूप से स्कूलों में कराया जाए। प्रत्येक माह एक प्रभात फेरी अवश्य निकाली जाए। इस माह स्वच्छता से संबंधित प्रभात फेरी निकाले जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों का बहुमुखी विकास एवं ज्ञान दिए जाने पर विशेष जोर दिया। पोषण मिशन अभियान की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जर्जर आंगनबाड़ी भवनों के पुनर्निर्माण हेतु 2 दिन के अंदर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। बागवानी मिशन की समीक्षा के दौरान मनमाने तरीके से वृक्ष न लगाए जाने पर जोर देते हुए कहा कि क्षेत्र महत्त्व के अनुसार ही बागवानी के लिए पौधे लगाए जाय। पौधों के कलस्टर विकसित किए जाने पर उन्होंने विशेष जोर दिया। उन्होंने निर्देशित कि कृषि विज्ञान केंद्र से प्रशिक्षित किसानों को बागवानी एवं मधुमक्खी पालन का लाभ मुहैया कराया जाए। वृक्षारोपण एवं प्रदूषण नियंत्रण की बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त को निर्देशित करते हुए कहा कि 31 सितंबर तक जनपद में सिंगल यूज प्लास्टिक पूरी तरीके से बंद होना चाहिए। सिंगल यूज प्लास्टिक रिटेलर पर मात्र कार्रवाई से कार्य नहीं चलेगा। निर्माता एवं आपूर्तिकर्ता के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई सुनिश्चित कराएं। ऐसे लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई जाए। वरुणा नदी के किनारे एवं हाईवे पर कराए गए वृक्षारोपण के सूख गए पौधों की जगह दूसरे पौधों को रोपित करने हेतु प्रभागीय वन अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में हुए वृक्षारोपण की जियो टैगिंग शत-प्रतिशत सुनिश्चित कराई जाए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल सहित अन्य समस्त जनपद स्तरीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।