January 18, 2021

चोरी की नीयत से की गयी विवाहिता की हत्या- अभिलाष राम

Spread the love

*चोरी की नीयत से की गयी विवाहिता की हत्या*

 

*एसपी ने हत्या का किया खुलासा,आरोपी हुआ गिरफ्तार*

 

*मऊ/चित्रकूट*

पुलिस अधीक्षक चित्रकूट अंकित मित्तल के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक मऊ गुलाब त्रिपाठी तथा उनकी टीम द्वारा दिनाँक 31दिसम्बर को थाना मऊ अन्तर्गत ग्राम खपटिहा में अन्तिमा देवी की हत्या की घटना के अभियुक्त सुधीर को गिरफ्तार करते हुये, 5 दिन के अन्दर ही घटना का सफल अनावरण करने में बड़ी सफलता प्राप्त की है। गौरतलब हो कि ग्राम खपटिहा में हरीशचन्द्र मिश्रा पुत्र राजकुमार निवासी खपटिहा की पुत्री अन्तिमा देवी का शव ग्राम खपटिहा अन्तर्गत इन्द्र कुमार के सरसों के खेत में पड़ा मिला था। इस घटना के सम्बन्ध में मृतका के पिता की तहरीर पर थाना मऊ में धारा 302 बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया। पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण कर प्रभारी निरीक्षक मऊ के शीघ्र अनावरण हेतु सख्त निर्देश दिये गये थे।

 

उक्त मुकदमें कि विवेचना प्रभारी निरीक्षक मऊ द्वारा की जा रही थी कि विवेचना से अभियुक्त सुधीर द्विवेदी पुत्र सन्तदास निवासी खपटिहा थाना मऊ जनपद चित्रकूट उम्र करीब 25 वर्ष प्रकाश में आया जिसे दिनाँक 04.01.2021 को समय करीब 15.30 बजे खपटिहा गांव के तालाब से गिरफ्तार कर लिया गया। *गिरफ्तारशुदा अभियुक्त से कड़ाई से पूंछताछ करने पर अपने जुर्म को स्वीकार करते हुये बताया कि दिनाँक 31 दिसंबर को समय करीब 5 बजे शाम अपने साथियों के साथ गांव पहंचा तो वहां गहने पहने हुये अन्तिमा देवी शौच क्रिया के लिये जाती दिखायी दी, इस पर गहनों के लालच में उसकी नियत खराब हो गयी तथा गाय हांकने का बहाना लेकर पीछे-पीछे गया जैसे ही अन्तिमा देवी इन्द्रकुमार के सरसों के खेत में शौच क्रिया करने लगी तो उसे पीछे से पकड़कर लिया और जमीन पर पटककर, मंगलसूत्र लेने का प्रयास किया तो अन्तिमा देवी ने उसे दांतों से काट लिया जिस पर अभियुक्त सुधीर द्विवेदी ने अन्तिमा देवी की गला दबाकर हत्या कर दी। छीना झपटी के दौरान मंगलसूत्र सरसों के खेत में कहीं खो गया था तथा मृतका के पैरों से पायलें निकाल कर मौके से भाग गया था तथा पायलों को पतनिया वाली रोड पर सरपतहा मोड के पास नहर के किनारे बबूल के पेड़ के पास झाड़ी में छिपा दिया था। अभियुक्त की निशा देही पर बताये गये स्थान पर जाकर पायलों को बरामद किया गया तथा मृतका के माता-पिता को मौके पर बुलाकर पालयों को दिखाकर पहचान करायी गयी जिसे देखकर दोनों ने पहचना लिया। झीना छपटी के दौरान गिरे मंगलसूत्र को घटना के दिन ही पुलिस द्वारा शव के साथ मौके से बरामद किया गया था। धारा 302 में धारा 394/411 की बढ़ोत्तरी की गयी।*

 

*रिपोर्ट अभिलाष राम चित्रकूट*