January 24, 2021

चोरियों के खुलासे में चोलापुर पुलिस फिसड्डी- दीपक सिंह

Spread the love

*वाराणसी चोलापुर*

 

 

*चोरियों के खुलासे में चोलापुर पुलिस फिसड्डी*

 

*किरकिरी से बचने के लिए दर्ज नही होते चोरी के मुकदमे*

 

वाराणसी/ चोलापुर थाना क्षेत्र में चोरों ने लगातार हुई चोरियों की वारदात को अंजाम देकर चोर आज भी मस्ती में घूम रहे है या यह कहे कि आगे भी घटना को अंजाम देने की फिराक में होगें। लेकिन चोलापुर पुलिस की सुस्ती इसी से बया होती है कि चोलापुर पुलिस ने आज तक इन मामलों का खुलासा नही कर सकी है। अब इसे पुलिस की लापारवाही कहें या सुस्ती, पुलिस की इस सुस्ती से चोरों को आगे भी वारदात को अंजाम देने में हौसला मिल रहा है।

 

बताते चलें कि खुलासा तो दूर न जाने कितने ऐसे चोरी की वारदातें हुई जिसमें पुलिस ने किरकिरी से बचने के लिए जांच की बात कहकर बिना मुकदमा लिखे थाने पर आने वाले पीड़ितों को टरका देती है। इससे आमजन खुद को ठगा सा महसूस करता है। पुलिस की सुस्ती और लापरवाही से चोरों की पौ बारह हो रही है। चोर क्षेत्र में आम जनता समेत शिक्षक, डॉक्टर समेत सेना के जवानों तक के घरों को भी खंगाल चुके हैं।

 

अगर मात्र पिछले दो माह के ही चोरी की वारदातों पर नजर डाली जाए तो पूरे थाना क्षेत्र में लगभग आधा दर्जन से भी अधिक चोरियां हो चुकी है। जिसमे से एक भी मामले का खुलासा करने में चोलापुर पुलिस सफल नही हो सकी है। इतना ही नही अधिकांश मामलों में तो पुलिस ने मुकदमा तक दर्ज नहीं किया। चोरी में लाखों रुपये गवां चुके लोग थाना में मुकदमा दर्ज कराने के लिए एड़ियां घिस रहे हैं। पुलिस ऐसे मामलों में जांच का आश्वासन देकर पीड़ितों को चलता कर देती है। पुलिस हर साल चोरी के दर्जनों मामले ठंडे बस्ते में डाल देती है।

 

चोलापुर थाना क्षेत्र की गत कुछ महीनों की प्रमुख चोरियां-

 

18 अक्टूबर

रिटायर्ड फौजी के परिवार को बंधक बनाकर लाखों के जेवर और तीन लाख कैश ले उड़े बदमाश, अभी तक सुराग नही मिल सका।

 

20 अक्टूबर

छह अलग अलग कमरों में परिवार के लोगो को बंद कर पूर्व जिला पंचायत के लाइसेंसी रिवाल्वर समेत नगदी समेत लाखों रुपये के जेवर चोरी हुए। मामले अभी भी पुलिस खाली हाथ है।

 

17 नवम्बर

थाने के बगल में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के

चीफ फार्मासिस्ट समेत स्टाफ नर्स के आवास से कलर टीवी, बैटरी आदि सामान की चोरी, रिपोर्ट नही की गई दर्ज। अस्पताल प्रसाशन अभी भी पुलिस से नाराज है।

 

11 दिसम्बर

प्रेमनगर बाजार स्थित परचून की दुकान में सेंधमारी। हजारो का माल गायब हुआ। आयर बाजार में ओमप्रकाश सेठ की दुकान में चोरी का प्रयास हुआ। सफलता नही मिली।

 

18 दिसम्बर

स्थानीय बाजार स्थित थाने के समीप सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बने कर्मचारी आवास के चोरो ने धावा बोलकर लाखो के माल को पार कर दिया। उसी रात दानगंज चौकी क्षेत्र के लखनपुर ग्राम स्थित घर में शुक्रवार रात्रि परिजन घर में सोते रहे, चोरों ने नगदी व गहने समेत लाखों का माल उड़ा दिया।

 

03 जनवरी

चोलापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चोरी की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। 3 जनवरी की रात लगातर चौथी बार अस्पताल के कार्यालय से लाखो रूपये के सामान चोरी हो गया। अस्पताल के ऑफिस से दो लैपटॉप, दो टैबलेट मोवाइल, एक इन्वर्टर और दो बैटरी समेत कई अन्य छोटे उपकरण भी चोर उठा ले गए।

 

09 जनवरी

गोसाईपुर चौकी क्षेत्र के ही प्रेमनगर बाजार में स्थित किशन पटेल के मकान की छत से उनके घर मे लगाए जाने की रखी छह पीस बड़ी रेलिंग (कीमत लगभग 50 हजार) पर शनिवार रात चोरो ने हाथ साफ कर दिया।

 

इसके अलावा दर्जनों बार क्षेत्र के कई विद्यालयों से सोलर पैनल आदि चोरी हुई जिनकी कोई प्राथमिकी दर्ज नही क़ी गई।