November 28, 2021

चंदौली में ट्रक मकान में घुसा, एक ही परिवार के 7 की मौत।

Spread the love

नए साल पर UP में बड़ा हादसा, चंदौली में ट्रक मकान में घुसा, एक ही परिवार के 7 की मौत, दहला उत्तर प्रदेश, जानिये थर्रा देने वाली पूरी घटना

लोग पहुंचे तो कुछ लाशें दबी हुई थीं और कुछ ऊपर, दो घाल तड़प रहे थे और उनसे खून बह रहा था। यूपी के चंदौली जिले में हुआ बड़ा हादसा।

वाराणसी/चंदौली: बीते साल के जख्मों से पीछा छुड़ाते उत्तर प्रदेश के लिये नया साल भी दर्द ही लेकर आया। 2019 की पहली सुबह मौत का तांडव लेकर आयी। चंदौली में एक ही परिवार के सात लोगों की ऐसी दर्दनाक मौत हुई कि हर कोई दहशत में आ गया। इस वाकये के बाद लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और हजारों लोग घरों से निकल आए। भीड़ के तेवर देखकर पुलिस के हाथ-पांव छूटने लगे। आला अधिकारियों के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस के साथ ही भारी फोर्स मौके पर पहुंच गयी। डीएम और एसपी बाद मे पहुंचे।

उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले की सीमा बिहार से लगती है। नेशनल हाइवे संख्या 2 के अलावा भी कुछ सड़कें हैं जो बिहार को जाती हैं। इसी में से एक सड़क है जो इलिया थानाक्षेत्र से होकर गुजरती है। यहां से भी गाड़ियों और ट्रकों क आना-जाना होता है। मंगलवार को नए साल के पहले दिन इसी सड़क से भोर के समय एक ट्रक तेज रफ्तार में बिहार की ओर जा रहा था। अचानक ही थानाक्षेत्र के मालदह गांव के पास मालदह पुलिया के पास ट्रक अनियंत्रित हो गया और सीधा सड़क किनारे बने कच्चे मकान को रौंदता हुआ आगे बढ़ गया।

कड़कड़ाती ठंड में मकान में पूरे परिवार ने अभी नए साल की सुबह आंख भी नहीं खोली थी कि अचानक उनके ऊपर से टनों वजनी ट्रक गुजरा और फिर वह मलबे में दब गए। घटना में परिवार के सात लोगों की मौत हो गयी, जिनमें से दो तीन पुरुष, दो महिला व एक बच्चा शामिल था। दो लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल भेजा गाय, जहां एक की मौत हो गयी। मरने वाले सभी अनुसूचित जाति के थे और गरीबी के चलते सड़क के किनारे कच्चे मकान मे रहते थे।

घटना की खबर मिलने पर तो जैसे पूरे गांव में कोहराम मच गया। सैकड़ों लोग मौके पर पहुंचे तो वहां का मंजर थर्रा देने वाला था। एक के बाद एक सात लाशें कुछ मलबे में दबी कुछ थोड़ा ऊपर थीं, घायल कराह रहे थे और उनसे खून बह रहा था। यह मंजर देख लोग थर्रा गए और उनके गुस्से का ठिकाना न रहा। इसकी खबर मिली तो कई थानों की पुलिस के साथ ही भारी फोर्स मौके पर भेजी गयी। एडिशनल एसपी खुद फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। हालांकि काफी देर हो जाने के बावजूद डीएम एसपी वहां नहीं पहुंचे थे जो बाद मे पहुंचे। लोगों में हादसे को लेकर गुस्सा है।

बताया जा रहा है कि घटना जिस ट्रक से हुई उसकी रफ्तार बहुत तेज थी और उसमें प्रतिबंधित पशु लदे हुए थे। वह बिहार की ओर जा रहा था इसी दौरान यह घटना हुई। दरअसल बिहार के लिये नेशनल हाइवे नंबर 2 के अलावा जिले से कुछ रास्ते और जाते हैं, जो सुदूर होने के नाते पुलिस और चेकिंग के लिहाज से तस्करों और अवैध सामान लाने ले जाने वालों के लिये मुफीद हैं। ऐसा कहा जाता है कि इन रास्तों पर पुलिस का भी खतरा कम रहता है।

www.mvdindianews.in