May 18, 2022

गेस्ट हाउस पर छापा, चार युवक और पांच युवतियां मिलीं, पुलिस ने लड़कियों के परिजनों को बुलाकर-

Spread the love

गेस्ट हाउस पर छापा, चार युवक और पांच युवतियां मिलीं, पुलिस ने लड़कियों के परिजनों को बुलाकर…

 

फिरोजाबाद के जीसी जैन अतिथि गृह गेस्ट हाउस में बृहस्पतिवार को देह व्यापार की सूचना पर पुलिस ने छापा मारा।

 

इस दौरान संचालक ने पुलिस टीम से अभद्रता कर दी। सूचना पर अफसर पहुंचे और कमरे की तलाशी ली गई। कमरों में चार युवक और पांच युवतियां मिलीं। पुलिस ने गेस्ट हाउस संचालक सुनील जैन, उसके पुत्र प्रिंस व चार युवकों को हिरासत में लेकर थाने भेज दिया। संचालक के विरुद्ध देर शाम केस दर्ज कर लिया गया। पुलिस के अनुसार आसपास के लोगों ने पूछताछ में बताया कि अतिथि गृह पहुंचने वाले युवक और युवतियों को पांच सौ रुपये के हिसाब से कमरा दिया जाता था। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की रिकॉडिंग को भी कब्जे में ले लिया है। जिससे यह पता चल सके कि अतिथिगृह पर किन-किन लोगों को आना जाना था।

 

रसूलपुर थाना क्षेत्र के मोहल्ला ओमनगर निवासी सुनील जैन का शीतल खां रोड पर जीसी जैन अतिथिगृह नाम से गेस्ट हाउस है। कार्यवाहक थानाध्यक्ष रसूलपुर शिवभान सिंह राजावत ने बताया कि दोपहर दो बजे सूचना मिली कि होटल में गलत कार्य हो रहा है। बाहर से लड़के लड़कियां आकर रुके हैं। वह मय फोर्स अतिथि गृह पहुंचे और दस्तावेज मांगे। इस पर संचालक ने अभद्रता करते हुए सरकारी कार्य में बाधा डालने की कोशिश की।

 

सूचना पर नगर मजिस्ट्रेट मनोज कुमार, सीओ सिटी हरिमोहन सिंह के साथ उत्तर और रामगढ़ थाना प्रभारी के साथ महिला थानाध्यक्ष भी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची। पुलिस ने होटल के कमरों को चेक किया तो कमरों में युवक-युवतियां मिले!

 

युवतियों के परिजनों को बुलाकर उन्हें सुपुर्द कर दिया गया। अतिथि गृह संचालक के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने अभिलेखों को पूरा न करने के साथ ही अन्य धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। संचालक को जेल भेजा जाएगा। युवकों के खिलाफ शांतिभंग की धारा के तहत कार्रवाई की जाएगी।

 

सीओ सिटी हरिमोहन सिंह ने कहा कि रुटीन चेकिंग के लिए रसूलपुर थाने की पुलिस अतिथि गृह गई थी। यहां संचालक द्वारा पुलिस से अभद्रता कर दी गई। अभिलेख भी पूरे नहीं थे। कमरों में युवक-युवतियां मिले। युवतियों को परिजनों के सुपुर्द कर हिरासत में लिए गए युवकों से पूछताछ की गई है।