May 29, 2022

गंगा नदी में सुरक्षित नाॅव संचालन हेतु नगर निगम ने कसी कमर-

Spread the love

*गंगा नदी में सुरक्षित नाॅव संचालन हेतु नगर निगम ने कसी कमर*

 

प्रायः देखा जा रहा है कि श्री काशी विश्वनाथ कारीडोर के दर्शन/ भ्रमण हेतु आने वाले श्रद्धालुओं/ पर्यटकों की भारी भीड़ को नाॅव संचालकों द्वारा पुर्ननिर्मित जलासेन एवं ललिता घाट पर छोड़ने की होड़ लगी हुयी है, जिसके कारण नाॅव दुर्घटना की आशंकाये बलवती हुयी है।

उक्त सम्बन्ध में नगर आयुक्त श्री प्रणय सिंह द्वारा गहरे पानी वाले घाटों पर सामान्य अभियत्रंण विभाग को आयरन बोर्ड पर खतरे का संकेतक लगाने, राजघाट से अस्सी घाट तक नाॅवों के सुरक्षित संचालन हेतु मार्ग निर्धारण/ वाटर डिवाइडर लगाने, सभी नाॅवों पर जीवन रक्षक उपकरणों यथा-लाइफ जैकेट, लाइफ रिंग आदि का प्रबन्ध किये जाने के साथ ही सुरक्षा के दृष्टि से संचालित हो रहे नाॅव/ मोटर बोट का जल पुलिस के माध्यम से तकनीकी एवं भौतिक परीक्षण कराते हुये कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया गया है। उपरोक्त निर्देशों के शत प्रतिशत अनुपालन कराये जाने हेतु प्रभारी अधिकारी अनुज्ञप्ति श्री पी0के0 द्विवेदी द्वारा अवगत कराया गया कि दिनांक-02 मई से भैंसासुर घाट, राजघाट, दशाश्वमेध घाट एवं अस्सी घाट को लक्षित करते हुये नाॅवों का पंजीकरण एवं लाइसेन्स कैम्प लगाया जायेगा। उक्त कैम्प में निर्धारित अवधि में लाइसेन्स जारी न कराने वाली नाॅवों का गंगा नदी में संचाालन प्रतिबन्धित किया जायेगा और सम्बन्धित नाॅव को चिन्हित करते हुये जल पुलिस को आवश्यक कार्यवाही हेतु अवगत कराया जायेगा। प्रभारी अधिकारी अनुज्ञप्ति श्री पी0के0 द्विवेदी द्वारा सभी नाविक संगठनों के प्रतिनिधियों को गंगा नदी में नाॅवों के सुचारू संचालन हेतु मानको का पालन करने के निमित्त दिनांक-28 मई, 2022 दिन-गुरूवार को पूर्वान्ह-11 बजे नदेसर स्थित वरूणापार जोनल कार्यालय में बैठक आहूत की गयी है।