October 24, 2020

Plastic vials containing tests for the coronavirus are pictured at a medical laboratory in Cologne, Germany, March 24, 2020, as the spread of the coronavirus disease (COVID-19) continues. Picture taken March 24, 2020. REUTERS/Thilo Schmuelgen

कोविड-19 संक्रमण पर नियंत्रण के लिए प्रदेश में की जा रही प्रभावी कार्यवाही- अजय मिश्रा

Spread the love

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 संक्रमण पर नियंत्रण के लिए प्रदेश

में की जा रही प्रभावी कार्यवाही को जारी रखने के निर्देश दिए

 

5 सप्ताह के बाद राज्य में कोविड-19 के

एक्टिव मरीजों की संख्या 50 हजार से कम हुई

 

जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, मेरठ, गोरखपुर तथा

वाराणसी में विशेष ध्यान दिया जाए, इन जिलों में चिकित्सा

व्यवस्था को सुदृढ़ करते हुए मरीजों की रिकवरी दर में वृद्धि की जाए

 

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा इन

जनपदों के जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी से नियमित

संवाद बनाए रखें और उपचार व्यवस्था की गहन माॅनिटरिंग करें

 

यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में सर्विलांस, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग

तथा मेडिकल टेस्टिंग पूरी सक्रियता से संचालित होती रहें

 

प्रदेश में 1.50 लाख कोविड टेस्ट प्रतिदिन हों, जिनमें

आर0टी0पी0सी0आर0 विधि से 60 हजार टेस्ट किए जाएं

 

मुख्यमंत्री कोविड-19 से बचाव तथा यातायात सुरक्षा के सम्बन्ध में

लोगों को जानकारी प्रदान किए जाने की कार्यवाही की समीक्षा करेंगे

 

ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए अधिक से अधिक

लोगों को इसके माध्यम से आॅनलाइन ओ0पी0डी0 का लाभ सुलभ कराएं

 

सी0एम0 हेल्पलाइन के माध्यम से होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के साथ-साथ अस्पताल में भर्ती रोगियों से संवाद स्थापित रखा जाए

 

आगामी 04 अक्टूबर को आयोजित होने वाली सिविल

सेवा प्रारम्भिक परीक्षा को सुचारु ढंग से सम्पन्न

कराने के लिए सभी आवश्यक प्रबन्ध किए जाएं

 

आत्मनिर्भर भारत पैकेज के माध्यम से पात्र लोगों

को ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था को और गति दी जाए

 

धान क्रय केन्द्रों पर आवश्यकतानुसार अतिरिक्त मैनपावर की तैनाती की जाए

लखनऊ: 02 अक्टूबर, 2020

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड-19 संक्रमण पर नियंत्रण के लिए प्रदेश में की जा रही प्रभावी कार्यवाही को जारी रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि 5 सप्ताह के बाद राज्य में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या 50 हजार से कम हुई है। उन्होंने चिकित्सा के बेहतर उपाय करते हुए एक्टिव मरीजों की संख्या में और कमी लाने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, मेरठ, गोरखपुर तथा वाराणसी में विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन जिलों में चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करते हुए कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की रिकवरी दर में वृद्धि की जाए। उन्होंने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा को निर्देशित किया कि वे इन जनपदों के जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी से नियमित संवाद बनाए रखे और चिकित्सालयों, मेडिकल काॅलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों की उपचार व्यवस्था की गहन माॅनिटरिंग भी करें।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में सर्विलांस, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा मेडिकल टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए यह सुनिश्चित किया जाए कि यह समस्त गतिविधियां प्रदेश में पूरी सक्रियता से संचालित होती रहें। उन्होंने कहा कि इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर की व्यवस्थाओं को सुचारु रखा जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश में 1.50 लाख कोविड टेस्ट प्रतिदिन हों जिनमें आर0टी0पी0सी0आर0 विधि से 60 हजार टेस्ट किए जाएं।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के बारे में लोगों को जागरूक किए जाने की कार्यवाही जारी रखी जाए। जागरूकता के लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग भी किया जाए। उन्होंने कहा कि वे कोविड-19 से बचाव तथा यातायात सुरक्षा के सम्बन्ध में लोगों को जानकारी प्रदान किए जाने की कार्यवाही की समीक्षा करेंगे।

मुख्यमंत्री जी ने ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए अधिक से अधिक लोगों को इसके माध्यम से आॅनलाइन ओ0पी0डी0 का लाभ सुलभ कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सी0एम0 हेल्पलाइन के माध्यम से होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के साथ-साथ अस्पताल में उपचार करा रहे रोगियों से संवाद स्थापित रखा जाए।

मुख्यमंत्री जी ने आगामी 04 अक्टूबर, 2020 को आयोजित होने वाली संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा प्रारम्भिक परीक्षा को सुचारु ढंग से सम्पन्न कराने के लिए सभी आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत पैकेज के माध्यम से पात्र लोगों को ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था को और गति दी जाए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि धान क्रय केन्द्रों पर आवश्यकतानुसार अतिरिक्त मैनपावर की तैनाती की जाए, ताकि खरीद केन्द्रों पर त्वरित ढंग से कार्य सम्पादित हो सके। इससे जहां एक ओर किसानों को सुविधा होगी, वहीं दूसरी ओर वर्तमान कोरोना काल खण्ड में भीड़ एकत्र होने की सम्भावना भी नहीं रहेगी।

इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, राहत आयुक्त श्री संजय गोयल, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

——–