October 27, 2020

कैसे हो विकास कार्य, जब दबंगों के अर्दब में हो प्रशासन- दीपक सिंह

Spread the love

*कैसे हो विकास कार्य, जब दबंगों के अर्दब में हो प्रशासन*

 

 

 

चोलापुर क्षेत्र -एक तरफ प्रधानमंत्री मोदी स्वच्छ भारत अभियान के तहत गांव-गांव में सामुदायिक शौचालय बनवाने के लिए मुहिम छेड़ रखी है वहीं दूसरी तरफ प्रशासनिक अधिकारी प्रधानमंत्री की पहल पर पानी फेरते नजर आ रहे हैं। इसका जीवंत उदाहरण विकास खंड चोलापुर क्षेत्र के बेनीपुर कला ग्राम में देखने को मिल रहा है जहां ग्राम सभा की बंजर भूमि पर प्रस्तावित सामुदायिक शौचालय व पंचायत भवन के निर्माण कार्य को गांव के ही भूमाफिया दबंगों ने रोक रखा है। गौरतलब है कि उक्त बंजर भूमि के बाबत लेखपाल भूमि प्रबंधक समिति के समक्ष बैठक कर प्रस्ताव दे चुका है, बावजूद इसके दबंगों के आगे शासन-प्रशासन बेबस दिख रहा है। उक्त भूमि पर कोई भी निर्माण नहीं है तथा बंजर भूमि पर दशकों से बांस की कोठी लगी हुई है। एक माह से अधिक समय से ग्राम प्रधान हरिलाल चौहान एसडीएम सदर, क्षेत्राधिकारी पिंडरा, खंड विकास अधिकारी चोलापुर, थानाध्यक्ष चोलापुर समेत कई अधिकारियों के कार्यालय का चक्कर लगाने को विवश हैं। सोमवार को ग्राम प्रधान हरिलाल चौहान ने पुनः ट्विटर पर जिलाधिकारी व एडीजीजोन से मामले को संज्ञान में लेकर उचित कार्रवाई की मांग की।

 

*पूर्व में हो चुकी है मारपीट की घटनाएं*

 

चोलापुर क्षेत्र के बेनीपुर कला गांव में भू-माफिया दबंगों का खौफ इस कदर है कि ग्राम प्रधान से लेकर थानेदार तक बेबस दिख रहे हैं। पुलिस मामले को राजस्व विभाग का बता पल्ला झाड़ रही है वहीं लेखपाल पूर्व में ही बैठक कर लिखित प्रस्ताव दिए जाने की बात कह मौके पर जाने से बच रहे हैं। गांव में बंजर जमीन को लेकर बीते 15 जुलाई को दबंगों ने ग्राम प्रधान को लाठी डंडों से पीटकर अधमरा कर दिया था, तब से भू माफिया दबंगों के हौसले बुलंद हैं। सम्भवतः प्रशासन को किसी बड़ी घटना का इंतजार है।