June 17, 2024

किसी को देखते ही उसके भीतर छिपी मंशा को जान लेना, हम कितने बड़े भ्रम में-

Spread the love

*किसी को देखते ही उसके भीतर छिपी मंशा को जान लेना!हम कितने बड़े भ्रम में..?*

*????????????????*

भ्रम में जीना जिंदगी में हमेशा खुशी देता है पर इस खुशी की सीमा कभी तय नही होती,जिस दिन आपका भ्रम भ्रम साबित होता हैं उस दिन से आपकी जिंदगी का चेहरे की मुस्कराहट से कोई संबंध नहीं रह जाता हैं!जन्म से लेकर मृत्यु तक का सफर कब निकल जाता है पता नहीं चल पाता इन सबके बीच कभी- कभी हम खुद की परख करना भी छोड़ देते है जिंदगी इतनी व्यस्तता से भरी है कि कभी-कभी इन सबके बीच खुद को भटका हुआ भी महसूस करते हैं! स्कूल की यादों से लेकर कालेज के सफर तक कितना कुछ बदल जाता है नई-नई चीजों का आभास होने लगता है और फिर कहीं न कहीं हम खुद को पहचानने लगते हैं कि हम किस काबिल हैं! खुद की परख करना बहुत जरूरी है समय के साथ – साथ इतनी बड़ी दुनिया के बीच हम लोग रहते हैं और तमाम तरह के लोग मिलते रहते हैं इन सबके बीच खुद क्या हैं उसकी पहचान और परख जरूरी है दिक्कत यह है कि हमारे आसपास आमतौर पर ऐसा दावा करते कई लोग मिल जाएंगे जो कहेंगे कि वे उड़ती चिड़िया के पर गिन लेते हैं! उनका आशय यह होता है कि वे किसी को देखते ही उसके भीतर छिपी मंशा को जान लेते हैं! अफसोस कि ऐसे लोग कई बार खुद की ही पहचान नहीं कर पाते हैं!जबकि खुद को जाने बिना दूसरों को जानने का दावा एक तरह से खुशफहमी ही है।

 

*????????????????*