किया सत्ता का शर्मनाक खेल – शिवसेना

Spread the love

मुख्यमंत्री के पार्थिव शरीर की राख भी ठंडी होने का इंतज़ार नही किया भाजपा ने, किया सत्ता का शर्मनाक खेल – शिवसेना

मुंबई: शिवसेना का भले ही भाजपा से गठबंधन हो चूका है। मगर शिवसेना का बगावती तेवर आज भी जारी है। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर के देहांतुप्रांत रात दो बजे मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह को शिवसेना ने सियासी ड्रामा करार देते हुवे भाजपा पर बड़ा हमला किया है। शिवसेना ने आज बुधवार को इस सियासी ड्रामे की कड़ी आलोचना करते हुवे इसको लोकतंत्र की दुर्दशा करार दिया है।

शिवसेना ने कहा है कि बीजेपी ने दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रीकर के पार्थिव शरीर की राख भी ठंडी होने का इंतजार नहीं किया। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि पर्रिकर के पार्थिव शरीर की राख के गोमांतक की भूमि में विलीन होने से पहले ही ‘सत्ता का शर्मनाक खेल’ शुरू हो गया। शिवसेना ने दावा किया कि यदि बीजेपी ने मंगलवार तक इंतजार किया होता, तो गोवा में उसकी सरकार गिर गई होती, दो उप-मुख्यमंत्रियों में से एक कांग्रेस में शामिल हो गया होता और उसे अपना मनचाहा पद मिल गया होता। वही भाजपा सरकार गिर गई होती। केवल अपनी सरकार को बचाने के लिए यह सियासी ड्रामा खेला गया है।

सामना में लिखा गया है कि यह लोकतंत्र की दुर्दशा है। उन्हें पर्रिकर की चिता ठंडी होने का इंतजार करना चाहिए था। यदि उन्होंने शपथ ग्रहण समारोह के लिए मंगलवार सुबह तक का इंतजार किया होता तो क्या हो जाता? शिवसेना ने कहा कि चिता जल रही थी और ”सत्ता के लोभी” सत्ता के लिए एक दूसरे की गर्दन पकड़ रहे थे। कम से कम चार घंटे इंतजार करने में कोई समस्या नहीं होनी चाहिए थी। उसने कहा कि गोवावासी आज भी शोक में है। पूर्व रक्षा मंत्री के निधन के बाद एक दिवसीय राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया था, लेकिन इन लोगों को राष्ट्रध्वज के आधा झुका होने की सुध भी नहीं थी।

Leave a Reply