November 25, 2020

कश्मीर के 80 युवा आतंकी संगठनों में शामिल हुए,सुरक्षा एजेंसियों ने किया अलर्ट

Spread the love

रमजान के पवित्र महीने में एक तरफ पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रहा है तो वहीं सुरक्षा एजेंसियों ने चेताया कि घाटी के कई युवा आतंकी संगठनों में शामिल हो रहे हैं।  सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, आतंकी सगंठन अबतक 80 से ज्यादा स्थानीय युवकों की भर्ती कर चुके हैं। एजेंसियों से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि सीजफायर से सबसे ज्यादा प्रभावित दक्षिण कश्मीर के शोपियां और पुलवामा जिले के युवा आईएसआईएस-कश्मीर, अलकायदा की शाखा अंसार गजवत उल हिंद जैसे आतंकी संगठनों में शामिल हो रहे हैं।

अधिकारियों ने आगे बताया ‘मई महीने ने 20 से ज्यादा युवा आतंकी संगठनों में शामिल हुए थे। इनमें गंदरबाल का राउफ भी शामिल है जो कि गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक संस्थान का छात्र है।

आईपीएस अधिकारी इनामुलक मेनगनू का भाई जो कि एक यूनानी डॉक्टर है वह शोपियां से गायब है। सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि वह भी किसी आतंकी संगठन में शामिल हो चुका है। हालांकि बीते कई दिनों में घाटी से कई युवा गायब हुए हैं जांच एजंसियां इस बात की जांच कर रही हैं कि क्या अचानक गायब हुए ये युवा आंतकियों के चंगुल में फंसकर इनमें शामिल हुए हैं या नहीं।

बता दें कि एकतरफ रमजान के दौरान केंद्र सरकार की तरफ से आतंकवाद विरोधी अभियान लगभग बंद है लेकिन दूसरी तरफ पाकिस्तान हमेशा की तरह अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।