November 28, 2021

कर्मचारी शिक्षक अधिकारी पुरानी पेंशन हड़ताल जारी

Spread the love

वाराणसी 7फरवरी 2019 ।सरकार द्वारा पुरानी पेंशन बहाली किये जाने की मांग पर अड़े राज्य कर्मचारी व शिक्षको की घोषित हड़ताल के दूसरे दिन सभी कर्मचारी व शिक्षक अपने-अपने कार्यालयो एवं बिद्यालयो मे पूर्णतया तालाबन्दी करने के उपरांत बाद दोपहर पूर्व से घोषित स्थान ब्यापार कर विभाग मे जुटने लगे और सभा की जिसकी अध्यक्षता प्राथमिक शिक्षक संघ एवं मंच के अध्यक्ष श्री संतोष कुमार सिंह द्वारा किया गया। संचालन शशांक शेखर पाण्डेय द्वारा किया गया। सभा में प्राथमिक शिक्षक संघ ,माध्यमिक शिक्षक संघ ,जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ ,कोषागार, लोक निर्माण विभाग, बोर्ड आफिस, बेसिक शिक्षा परिषद, जिला विद्यालय निरीक्षक, लेखपाल राजस्व संग्रह अमीन एवं अनुसेवक संघ, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी महासंघ,मिनिस्ट्रीयल फेडरेशन ,श्रम ,सेवायोजन, आबकारी, चिटफंड , सूचना विभाग, चकबंदी, रजिस्टार कानूनगो, निबंधन लिपिक संघ, संभागीय परिवहन ,विकास प्रधिकरण, नगर निगम, जलकल विभाग, स्वास्थ्य विभाग ,मातृ शिशु महिला कल्याण ,पशुपालन विभाग ,बोरिंग टेक्निशियन, लघु सिंचाई, आईटीआई, राज्य कर्मचारी महासंघ, बाल विकास पुष्टाहार विभाग, खाद एवं रसद विभाग, हिंदी संस्थान विभाग, उद्योग विभाग ,सहित तहसील एवं ब्लाक के संघों के पदाधिकारी कर्मचारी ,शिक्षक उपस्थित रहे, धरना में सभी वक्ताओं ने राज्य सरकार से पुरानी पेंशन बहाल किए जाने की मांग की ।और कहा कि हम कर्मचारी,शिक्षकों और अधिकारियों के साथ अन्याय क्यों किया जा रहा है, क्यों
–माननीय सांसद /विधायक पुरानी पेंशन व्यवस्था लेंगे और कर्मचारी शिक्षक अधिकारी 40 वर्षों की सेवा के बाद भी पुरानी पेंशन नही।बुढ़ापे में जीवकोपार्जन के लिए पुरानी पेंशन ही जरूरी है।
जिला संयोजक शशिकान्त श्रीवास्तव ने सरकार पर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी उत्पीड़न के आदेश के बजाय पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने के आदेश निर्गत करे नहीं तो इस टकराव का अंजाम अच्छा नहीं होगा। अब उत्तर प्रदेश ही नहीं पूरे भारतवर्ष का कर्मचारी भी पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू किए जाने के लिए आंदोलन करेगा। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 2 महीने का समय लेने के बाद भी सरकार की तरफ से कोई कार्यवाही न किए जाने पर उत्तर प्रदेश का कर्मचारी और भी आक्रोशित है,धरने की अध्यक्षता कर रहे मंच के जिलाध्यक्ष श्री संतोष कुमार सिंह ने कहा पुरानी पेंशन बहाल न किये जाने से पूरा राज्यकर्मचारी , अधिकारी व शिक्षक आज हड़ताल करने के लिए विवश हुआ है। यह हड़ताल 12 फरवरी तक घोषित है ।12 फरवरी को ही आगामी आंदोलन की घोषणा की जाएगी ।हड़ताल से प्रभावित जनजीवन की जिम्मेदार सरकार हैं। इंजीनियर संजय भारती राज्य विद्युत परिषद डिप्लोमा इंजीनियर संघ वाराणसी के जिला अध्यक्ष ने कहा कि यदि हड़ताली कर्मचारियों के ऊपर किसी प्रकार का उत्पीड़न किया जाता है तो प्रदेश नेतृत्व के आवाहन पर बिजली आपूर्ति की व्यवस्था बंद कर दी जाएगी।सभा के अंत में संकल्प यात्रा निकाली गई जो लहुराबीर चौराहा स्थित चंद्रशेखर आजाद जी की प्रतिमा तक जाकर माल्यार्पण के उपरांत समाप्त हुआ वहीं पर संकल्प लिया गया कि जब तक पुरानी पेंशन बहाल नहीं की जाती तब तक हम अपने शीर्ष नेतृत्व के आदेशों का अनुपालन करते रहेंगे और पुरानी पेंशन व्यवस्था हर हाल में लागू करा कर ही चैन की सांस लेंगे इस बात का संकल्प जिला संयोजक शशिकांत श्रीवास्तव ने कराया । धरने के अंत में श्री कैलाश नाथ यादव एवं श्याम राज यादव ने सभी का स्वागत एवं आभार प्रकट करते हुए अनुरोध किया कि कल दिनांक 8 फरवरी को सभा जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय पर पूर्वान्ह 11:00 बजे की जाएगी सभी शिक्षक अधिकारी व कर्मचारी सीधे जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं ।धरने को सर्वश्री शशिकान्त श्रीवास्तव (जिला संयोजक ) महिमा दत्त द्विवेदी ,राजेश्वर पाण्डेय (संरक्षक )दिवाकर द्विवेदी (वरिष्ठ उपाध्यक्ष) श्याम राज यादव (मंत्री) कैलाश नाथ सिंह यादव(मंत्री), इंजीनियर चंद्रजीत यादव, इंजीनियर आर सी श्रीवास्तव यशोवर्धन त्रिपाठी दीपेंद्र कुमार श्रीवास्तव (मण्डल मंत्री) , प्रणव राय प्रवीण वर्मा ई.मनोज यादव , दिनेश द्विवेदी , इं.पी.के.राय , सुभाष सिंह भूषण त्रिपाठी,अवधेश मिश्रा, इं. मनोज कुमार संजीव श्रीवास्तव आशा पाठक रमा रुखैया, सुमन चौबे सुशीला भारती अरविंद पटेल डॉ दिनेश तिवारी रेवती रमण शर्मा जितेंद्र पांडे राम दयाल अरुण कुमार सिंह श्रीमती बानी सुधीर सिंह इंजीनियर हेमराज डॉ दिनेश चंद डॉ कुसुम चतुर्वेदी मंजू सिंह प्रमोद उपाध्याय रूपेश राय शेषनाथ वर्मा उपेंद्र पांडे विष्णु प्रसाद संजय तिवारी रामचंद्र गुप्ता विजय कुमार श्रीवास्तव कन्हैया यादव संजीव राय ब्लू गौरव सिंह गौरव सिंह दुर्गा सिंह दुर्गा सिंह आदि लोगों ने संबोधित किया ।