June 16, 2024

एग्रो पार्क करखियॉव में 182 भूखण्डो पर 97 इकाईयॉ उत्पादन प्रारम्भ-

Spread the love

वाराणसी/दिनांक 01 फरवरी, 2023 (सू0वि0)

 

*एग्रो पार्क करखियॉव में 182 भूखण्डो पर 97 इकाईयॉ उत्पादन प्रारम्भ कर चुकी है*

 

*22 भूखण्डों पर 18 इकाईयॉ अपना निर्माण कार्य कर रही है*

 

*मल्टीचेम्बर कोल्ड स्टोरेज के सम्बन्ध में ब्लूस्टार कम्पनी से विवाद*

 

वाराणसी। औद्योगिक क्षेत्र एग्रो पार्क करखियॉव खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों की स्थापना हेतु स्थापित किया गया था। जिसमें कुल 253 औद्योगिक भूखण्ड एवं 02 वाणिज्यिक भूखण्ड है, जिसमें से 232 भूखण्ड 135 इकाईयो को आवंटित किया गया है और 02 वाणिज्यिक भूखण्ड 02 इकाईयों हेतु आवंटित किये गये है।

यूपी सीडा के क्षेत्रीय प्रबन्धक आशीष नाथ ने उक्त जानकारी हुए बताया कि आवंटित भूखण्डों में 182 भूखण्डो पर 97 इकाईयॉ उत्पादन प्रारम्भ कर चुकी है। जबकि 22 भूखण्डों पर 18 इकाईयॉ अपना निर्माण कार्य कर रही है। 15 भूखण्ड हाल ही में हस्तांतरित/आवंटित किये गये है। जिस पर 12 इकाईयों द्वारा शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारम्भ

कर इकाई स्थापित की जायेगी। 13 ऐसे भूखण्ड है जिस पर विभिन्न न्यायालयों में वाद विचाराधीन है। वाद निस्तारित होने के उपरान्त इन्हे आवंटन की प्रक्रिया में लिया जायेगा। वर्तमान में 21औद्योगिक भूखण्ड निरस्तीकरण और नव सृजन के फलस्वरूप आवंटन हेतु उपलब्ध है, जिनका आवंटन यूपीसीडा की वर्तमान नीति के अनुसार ई-ऑक्सन के माध्यम से किया जाना है। इन आवंटन योग्य भूखण्डों को ई-ऑक्सन के माध्यम से आवंटित किये जाने की प्रक्रिया हेतु यूपीसीडा, मुख्यालय भेजा गया है। भूखण्डों के ई-ऑक्सन के प्रकाशन का कार्य मुख्यालय स्तर से शीघ्र किया जायेगा। उन्होंने अपने कि औद्योगिक क्षेत्र के मुख्य द्वार से लगे हुए 01 भूखण्ड संख्या ए-6 भारत सरकार की योजना के अन्तर्गत मल्टीचेम्बर एटमस्फोरेक कोल्ड स्टोरेज (एमएसीएस) स्थापित करने हेतु आरक्षित किया गया था। जिस पर कोल्ड स्टोरेज स्थापित करने हेतु ब्लूस्टार कम्पनी के साथ अनुबन्ध अप्रैल, 2003 रू0 3,39,55,941.00 करते हुए उनको भूखण्ड हस्तगत किया गया था। अनुबन्ध के अनुसार ब्लूस्टार कम्पनी को इस भूखण्ड पर मल्टीचेम्बर कोल्ड स्टोरेज का निर्माण कर और संचालित कर यूपीसीडा को हस्तांतरित करना था, परन्तु ब्लूस्टार के द्वारा कोल्ड स्टोरेज का निर्माण पूर्ण नही किया गया और न ही यूपीसीडा को हस्तांतरित किया गया। जिसकी वजह से इस भूखण्ड पर निर्मित होने वाले कोल्ड स्टोरेज के सम्बन्ध में ब्लूस्टार कम्पनी से विवाद चल रहा है।