May 18, 2022

एक देश एक कानून के लिए चल रही मुहिम अब जोर पकड़ती जा रही-

Spread the love

वाराणसी। एक देश एक कानून के लिए चल रही मुहिम अब जोर पकड़ती जा रही है। स्थिति परिस्थिति को देखते हुए आज वाराणसी में भी राष्ट्रवादी सामाजिक कार्यकर्ता व अधिवक्ता एकजुट हुए और प्रधानमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन/पत्रक जिलाधिकारी वाराणसी को रायफल क्लब,कचहरी परिसर में दिया जिसमें सर्वोच्च न्यायालय के आदेश,संवैधानिक व्यवस्था का हवाला देते हुए नौ बिंदुओं के माध्यम से मांग की गई की देश में राष्ट्रीय भावना और सामाजिक समरसता को बचाए रखने और उसे मजबूत बनाने के लिए कॉमन सिविल कोड की सख्त आवश्यकता है। समान कानून लागू होनें से लैंगिक असमानता और भेदभाव की समस्या भी खत्म होगी और जिनको भ्रम है की वो विशेष है,कुछ भी कर सकते हैं,इस प्रकार की मानसिकता और उसपर टिकी राजनीति का भी खात्मा होगा। राष्ट्रीय जन सेवा संघ में समान कानून की मांग करते हुए याद दिलाया है कि 2019 में ही सुप्रीम कोर्ट में कहा था की कॉमन सिविल कोड को लागू करवाने का रोडमैप तैयार करे सरकार और यही समय इसे लागू करने के लिए उचित है।किन्तु दुखद है की अभी तक इस पर कोई ठोस काम नहीं हुआ। संघ में देश के पीएम से मांग की है की अब से भी शीघ्र इस कानून को लागू करवाते ताकि देश में अराजक स्थिति बंद हो। राष्ट्रीय जन सेवा संघ के प्रतिनिधि मंडल में अधिवक्ता अरुण मौर्य,समाजसेवी विपुल कुमार पाठक,भाजपा नेता मनोज पाण्डेय,अधिवक्ता ज्ञान प्रकाश राय, संजीवन यादव,श्याम जी वर्मा,संतोष कुमार,आनंद गोस्वामी,विशाल शाह गोलू,मनीष गुप्ता,मोहन गुप्ता सहित तमाम लोग थे।