May 9, 2021

एंटीलिया केस में राष्ट्रीय जांच एजेंसी की जांच लगातार जारी- अजय मिश्रा

Spread the love

एंटीलिया केस में राष्ट्रीय जांच एजेंसी की जांच लगातार जारी है। मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह पूछताछ के लिए NIA ऑफिस पहुंचे हैं। इसी मामले में गिरफ्तार असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वझे की सीधी रिपोर्टिंग परमबीर सिंह को थी। जिलेटिन से भरी स्कॉर्पियो बरामदगी के बाद वझे के हाथ में इसकी जांच सौंपने वाले भी परमबीर सिंह ही थे। परमबीर सिंह को फिलहाल होमगार्ड विभाग की जिम्मेदारी दी गई है।

 

★ NIA कर सकती है ये 7 सवाल

 

1. 16 साल तक सस्पेंड रहने पर सचिन वझे को किस आधार पर फिर से बहाल किया गया?

 

2. क्राइम ब्रांच में कई सीनियर होने के बावजूद उन्हें क्यों CIU का हेड बनाया गया?

 

3. प्रोटोकॉल नियम को दरकिनार करते हुए वझे क्यों सीधे आपको रिपोर्ट करते थे?

 

4. आपने उनके जॉइन करने के तुरंत बाद लगभग सभी बड़े महत्वपूर्ण केस उन्हें सौंपे?

 

5.एक असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर होने के बावजूद वझे के रसूख पर आपको कभी संदेह नहीं हुआ?

 

6. एंटीलिया केस की जानकारी मिलने के बाद ज्यूरिडिक्शन नहीं होने के बावजूद सचिन वझे को इसकी जांच क्यों सौंपी गई?

 

7. सचिन वझे को स्पेशल पावर देने के लिए क्या कभी किसी पॉलिटिकल व्यक्ति ने दबाव बनाया था?

 

 

★ वझे की सीक्रेट पार्टनर की सीक्रेट डायरी मिली

 

NIA ने सचिन वझे की सीक्रेट पार्टनर मीना जॉर्ज को लेकर एक नया खुलासा किया है। उसके घर से बरामद सीक्रेट डायरी से पता चला है कि उसके और सचिन वझे के कई बैंकों में जॉइंट अकाउंट थे। इनमें से एक बैंक से उन्होंने 18 मार्च को यानी वझे की गिरफ्तारी के कुछ दिन बाद 26 लाख रुपए निकाले थे। NIA जांच में सामने आया है कि इन पैसों को लेकर मीना फरार होने की फिराक में थी।

 

मीना ने यह पैसा मुंबई के वर्सोवा में स्थित डीसीबी बैंक से निकाला था। बैंक के कर्मचारियों के बयान और CCTV फुटेज में इसकी पुष्टि हो गई है। इसी बैंक में वझे और मीना का जॉइंट अकाउंट था। सूत्रों की माने तो डायरी में यह लिखा है कि पैसे कहां से आये है और पैसों का इस्तेमाल कहा किया जाना है? यही नहीं, यह पैसे किस तक पहुंचाने हैं, इसकी डिटेल भी डायरी में दर्ज है। NIA को मीना के घर से कई पासबुक और ट्रांजेक्शन स्लिप भी बरामद हुई है।

 

★ NIA ने अभी तक नहीं की है मीना की गिरफ्तारी की पुष्टि

 

तीन दिन पहले NIA ने मीना के नाम पर रजिस्टर्ड 8 लाख रुपए की इटेलियन बेनले बाइक भी बरामद की थी। सूत्रों की माने तो इस बाइक का पेमेंट वझे ने किया था। यह बाइक कई साल से सचिन वझे के पास थी। यह साबित करता है कि मीना और वझे के बीच कई साल से संबंध थे। मीना को NIA ने ठाणे के एक फ्लैट से हिरासत में लिया था। वह तब एजेंसी के निशाने पर आई थी, जब CCTV फुटेज में उसके वझे से मिलने की बात सामने आई। मीना नोट गिनने वाली मशीन लेकर सचिन वझे से मिलने के लिए मुंबई के होटल ट्राइडेंट गई थी। मीना के लिए कहा जा रहा है कि वह ब्लैक मनी को वाइट करने में भी मदद करती थी।

 

NIA ने मीना जॉर्ज को अभी तक आधिकारिक रूप से गिरफ्तार नहीं किया है। मीना जॉर्ज मीरा रोड पर सेवन इलेवन कॉम्प्लेक्स के सी विंग में 401 नंबर फ्लैट में किराए पर रहती थी। यह फ्लैट पीयूष गर्ग नामक व्यक्ति का है।