April 21, 2021

उप मुख्यमंत्री ने कुड़िया घाट स्थित क्रिया– दसवां घर के जीर्णोद्धार एवं नवनिर्माण का किया लोकार्पण- अजय मिश्रा

Spread the love

*उप मुख्यमंत्री ने कुड़िया घाट स्थित क्रिया– दसवां घर के जीर्णोद्धार एवं नवनिर्माण का किया लोकार्पण*

*लखनऊ आदरणीय टंडन जी की आत्मा में बसता था*

 

*लखनऊ के विकास हेतु टंडन जी ने अथक प्रयास किया*

*टंडन जी लखनऊ के कण-कण में व्याप्त हैं*

 

*लखनऊ के वर्तमान स्वरूप में बाबूजी का बहुत बड़ा योगदान है*

 

*अत्यंत सहज और सरल स्वभाव वाले बाबूजी सबके अभिभावक थे*

 

*त्याग और अपनेपन की भावना का वे अद्वितीय स्वरूप थे*

–उप मुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा

 

*नगर विकास मंत्री ने गुल्लाला, भैसा कुंड और आलमबाग स्थित शवदाह गृह के जीर्णोद्धार हेतु 02–02 करोड़ रुपए की घोषणा की*

 

उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि समाज के सभी वर्गों से आत्मीय संबंध, वैचारिक विरोधियों से भी गजब की निकटता ने लालजी टंडन जी “बाबू जी” को अजातशत्रु बनाया। सबको साथ लेकर चलने की कला एवं समाज हित के कार्य करने का प्रबल आत्म बल उनके व्यक्तित्व का आधार था।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने यह विचार आज यहां लालजी टंडन फाउंडेशन द्वारा स्वर्गीय लालजी टंडन जी की पुण्य स्मृति में कराए गए कुड़िया घाट स्थित क्रिया– दसवां घर के जीर्णोद्धार एवं नव निर्माण के लोकार्पण अवसर पर व्यक्त किया।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि लखनऊ आदरणीय टंडन जी की आत्मा में बसता था, लखनऊ के विकास हेतु टंडन जी ने अथक प्रयास किया। टंडन जी लखनऊ के कण-कण में व्याप्त हैं। लखनऊ के वर्तमान स्वरूप में बाबूजी का बहुत बड़ा योगदान है। राजनेता बनने पर भी उन्होंने समाज सेवा का दायित्व कभी नहीं छोड़ा अत्यंत सहज और सरल स्वभाव वाले बाबूजी सबके अभिभावक थे कोई भी कभी भी उनसे मिल सकता था और उसकी सामाजिक से लेकर पारिवारिक समस्याओं का त्वरित समाधान भी हो जाता था। प्रदेश के हर जिले में उनको मानने वाले लोग थे त्याग और अपनेपन की भावना का वे अद्वितीय स्वरूप थे। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि आज बाबू जी की स्मृति में आयोजित कार्यक्रम केवल स्मृति दिवस ना बने बल्कि लखनऊ के विकास की प्रक्रिया अनवरत चलती रहे।

नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन ने इस अवसर पर अपने पिता आदरणीय लालजी टंडन “बाबूजी” तथा उनके द्वारा किए गए कार्यों को याद करते हुए भावुक भी हो गए। नगर विकास मंत्री ने इस अवसर पर गुल्लाला, भैसा कुंड और आलमबाग स्थित शवदाह गृह के जीर्णोद्धार हेतु 02–02 करोड़ रुपए की घोषणा भी की।

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने इस अवसर पर कहा कि टंडन जी का जीवन समाज सेवा के लिए समर्पित था, वे बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे। उन्होंने कहा कि टंडन बिरले नेतृत्वकर्ता थे जिन्होंने लखनऊ नगर महापालिका के सभासद के रूप में लोकतंत्र के सबसे निचले पायदान से प्रारंभ कर विधायक, मंत्री, सांसद एवं राज्य के सर्वोच्च पद राज्यपाल के पद का अत्यंत कुशलता पूर्वक निर्वहन किया।

लोकार्पण के अवसर पर राज्यसभा सांसद श्री संजय सेठ, लखनऊ की महापौर श्रीमती संयुक्ता भाटिया, विधायक सुरेश श्रीवास्तव, डा नीरज बोरा, श्री सुरेश तिवारी, डा अम्मार रिजवी तथा अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल सहित फाउंडेशन के अन्य लोग उपस्थित थे