May 29, 2022

*उन्मादी बयानों से बिखरता सामाजिक ताना बाना

Spread the love

*उन्मादी बयानों से बिखरता सामाजिक ताना बाना…!!*

*हिंदू मुसलिम सिख ईसाई आपस में है भाई भाई यह क्यों नही समझ रहें हम..!*

*राजनीति के मोहरे ना बन आपसी भाईचारे को ना भूले हम..*

*समाज में शांति अमन चैन भाईचारा स्थापित करना ही हो हमारा उद्देश्य..!*

*आमजन चाहे वह किसी भी जाति धर्म संप्रदाय का हो सभी एकजुट होकर ऐसे उन्मादी बयान बहादुरों का सामाजिक बहिष्कार करें और दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ सामाजिक समरसता को बनाए रखने की प्रतिज्ञा करें..!*

🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻
आजादी के बाद हमारे देश ने अपने संविधान में धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक व्यवस्था को स्वीकार कर हिंदू, मुसलिम सिख ईसाई आपस में है भाई भाई का नारा बुलंद किया लेकिन आज उन्मादी बयानों से सामाजिक ताना बाना बिखरता जा रहा है! कोई दलितों का नेता बनता है कोई हिंदुओं तो कोई मुसलमानों का सबका अपनी डफली अपना राग है!अपने उन्मादी जोश में कोई मुसलमानों को मिटा देने की बात करता है तो कोई हिंदुओं को! एक तरफ विश्व बंदे बापू पर कीचड़ उछाला जाता है तो दूसरी तरफ उनके हत्यारे पर फूल माला चढ़ाई जाती है! कोई महामंडलेश्वर हिंदुओं की संख्या बढ़ाने की सलाह देते हैं! तब फिर धर्मनिरपेक्ष भारत का क्या होगा!भारतीय संविधान में धर्म धारण करने की आजादी है! धर्म समाज में शांति अमन चैन भाईचारा स्थापित करता है! समरसता सदाचार उदार और आदर्श चरित्र के साथ सफल जीवन जीने का पाठ पढ़ाता है! कोई भी धर्म दूसरे धर्म का विरोध नहीं करता और न ही समाज में कटुता पैदा करता है!समय आ गया है कि देश का आमजन चाहे वह किसी भी जाति धर्म संप्रदाय का हो सभी एकजुट होकर ऐसे उन्मादी बयान बहादुरों का सामाजिक बहिष्कार करें और दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ सामाजिक समरसता को बनाए रखने की प्रतिज्ञा करें! भारत रूपी बगिया को विभिन्न पुष्प हैं सब एक साथ खिलखिलाते रहें बिहंसते रहें यही भारतीय संस्कृति की खूबसूरती है इसे बनाए रखा जाए तभी दुनिया भारत का अनुसरण करेगी।

🙏🏻🙏🏻💥💥