January 20, 2021

उत्तर प्रदेश मे लम्बे समय के बाद बारिश- अमित कुमार प्रजापति

Spread the love

उत्तर प्रदेश मे लम्बे समय के बाद बारिश हुई।जनवरी के पहले हप्ते मे यह वर्षा सिर्फ पश्चिम और मध्य जिलो मे ही सीमित रही,उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्सो मे छिटपुट वर्षा ही देखने को मिली।जबकी पश्चिमी हिस्सो मे अच्छी बारिश के साथ ओले भी कहीं कहीं गिरे।जनवरी के पहले हप्ते मे यू पी के पश्चिमी जिलो मे सामान्य से ज्यादा वर्षा देखने को मिली वही पूर्वी उत्तर प्रदेश में सामान्य से लगभग 81 % कम वर्षा देखने को मिली।11 जनवरी से पूर्वी उत्तर प्रदेश मे बर्फीली हवाएं पहाड़ो से टकराकर आयेंगी जिससे न्यूनतम तापमान मे गिरावट होगी।

जनपद फतेहपुर मे आगामी पाँच दिनो मे मौसम मे बदलाव देखा जा सकता है जिसमे दिनांक 10 जनवरी से 12 जनवरी के मध्य आंशिक रूप मे बादल छाये रहने के साथ,हो सकता है की जनपद के कुछ स्थानो पर बूंदाबांदी की भी सम्भावना बन जाये तथा 12 जनवरी से हवा की गति सामान्य से तेज रहने के आसार है तथा शीत लहर भी शुरू हो सकती है।

किसान भाईयों को सलाह दी जाती है की अगर खेत मे नमी है तो आगामी दो तीन दिनो के लिये सिचाई स्थगित कर दे और किसी भी कीटनाशक व खरपतवारनाशी का प्रयोग मौसम सही होने के बाद ही करें अथवा मौसम की अपडेट के अनुसार करे।

तथा मौसम मे अनियमितता के कारण फसल मे रोग और कीट लगने की सम्भावना बढ़ जाती है जिसमे किसान भाई निरंतर खेत की निगरानी करते रहे। मटर की फसल मे पाऊडरी मिल्डिव के लक्षण दिखाई देने की सम्भावना है ,जिसके नियंत्रण के लिये घुलनशील सल्फर की 2 ग्राम मात्रा एक लीटर पानी मे मिलाकर साफ मौसम मे स्प्रे करे। चने की फसल को फली बेधक कीट से बचाने के लिये फिरोमेन ट्रेप भी लगाये जा सकते है।पशुपालक अपने पशुओं को ठंड से बचाने की लिये किसी सुरक्षित जगह पर रखे तथा उनके बिछावन को धूप मे सुखाकर ही डाले व दिन मे 3 से 4 बार स्वच्छ जल अवश्य पिलाए।तथा मुर्गी पालन करने वाले किसान भाई मुर्गीखाने मे 16 से 17 घन्टे प्रकाश का प्रबंध करे व मुर्गिखाने मे पर्याप्त गर्मी का भी प्रबंध करे।

 

(सचिन कुमार शुक्ला, कृषि मौसम विशेषज्ञ )

कृषि विज्ञान केन्द्र थरियांव फतेहपुर