November 25, 2020

उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा से मांगा गया इस्तीफा,बढ़ सकता है सियासी संकट

Spread the love

ब्यूरो-

राम नगरी अयोध्या में संतो ने उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम सीता अभद्र टिप्पड़ी के बाद अभी तक कोई कार्रवाई ना होने के कारण आक्रोश व्यक्त किया है। इसके साथ ही संतों ने डिप्टी सीएम को उनके पद से इस्तीफा देने की मांग की है। आपको बता दें कि लखनऊ के एक कार्यक्रम में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने माता सीता को टेस्ट ट्यूब बेबी बताया था।

डिप्टी सीएम दे अपने पद से इस्तीफा

हनुमान गढ़ी के महंत ज्ञानदास ने डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा से इस्तीफा देने की मांग करते हुए कहा कि मां सीता को टेस्ट ट्यूब बेबी बताकर उन्होंने संतो की आस्था पर कुठाराघात किया है। महंतदास ने कहा कि गोस्वामी तुलसीदास ने मां सीता को उत्पत्ति, पालन, संहार और मंगल की कारक बताया है। महंत ज्ञानदास ने दिनेश शर्मा को मानसिक रूप से दिवालिया बताते हुए कहा कि ऐसे व्यक्ति का उप मुख्यमंत्री पद पर रहना घातक साबित हो सकता है।

 

संतो से मांगे माफी, नहीं तो होगा आंदोलन

वहीं राम जन्मभूमि के पुजारी आचार्य सतेन्द्र दास ने कहा कि डिप्टी सीएम का बयान बहुत ही शर्मनाक है। यह बयान धर्म की आस्था पर आघात है। किसी को नहीं पता कि माता सीता का जन्म किस रूप में हुआ। सभी यही जानते हैं कि शास्त्रों में लिखा है माता सीता का जन्म पृथ्वी से हुआ और वह पृथ्वी में ही वापस चली गईं। इसलिए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा माता के अपमान पर माफी मांगे नहीं तो अयोध्या का संत समाज ही नहींं बल्कि पूरा हिन्दू समाज इनके खिलाफ अन्दोलन कर सकता है।

 

मूर्खों की तरह बात करते हैं डिप्टी सीएम

दिगम्बर अखाड़ा के महंत सुरेश दास ने दिनेश शर्मा को पूरे हिन्दू समाज से माफी मांगने की मांग करते हुए कहा कि इन्हें धर्म के प्रति जानकारी नहीं है कि माता सीता कोई साधारण नहीं, बल्कि आदि शक्ति हैं। जैसे भगवान पृथ्वी पर प्रकट हुए हैं, उसी तरह माता भी पृथ्वी से प्रकट हुई हैं। इसलिए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा मूर्खों जैसी बात करते हैं।