May 28, 2022

उत्तर प्रदेश की अब तक की अहम खबरे –

Spread the love

✒️ *कोरोना एलर्ट:कोरोना के मामलों में बड़ा उछाल, 24 घंटे में सामने आए दो लाख 83 हजार नए केस*

भारत में कोरोना संक्रमण के मामलों में बड़ा उछाल देखने को मिला है। बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 2,82,970 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान 1,88,157 लोग रिकवर हुए हैं। इसके अलावा 441 लोगों की मौत भी हुई है।मंगलवार के मुकाबले आज कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। कल कोरोना के 2,38,018 नए मरीज मिले थे जबकि आज 2,82,970 नए मामले सामने आए हैं। कल के मुकाबले आज 44,952 मरीज बढ़े हैं।

 

 

 

✒️ *ओमिक्रोन एलर्ट:भारत में 8961 हुए ओमिक्रोन के मामले*

ओमिक्रोन के मामले में भी तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में ओमिक्रोन के मरीजों की संख्या बढ़कर 8,961 हो गई है। देश में अब एक्टिव केसों की संख्या 18 लाख 31 हजार हो गई है। वहीं, अब तक कुल 3,55,83,039 लोग ठीक हो चुके हैं। कोरोना से अब तक देश में 4,87,202 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। इसके अलावा पाजिटिविटी रेट बढ़कर अब 15.13 फीसद हो गया है।

 

✒️ *उत्तर प्रदेश चुनाव 2022: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी इस बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, जल्द होगी घोषणा*

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी इस बार उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। हालांकि उन्होंने अभी यह ऐलान नहीं किया है कि वह कहां से चुनाव लड़ेंगे।अखिलेश यादव अभी आजमगढ़ (यूपी) से सांसद हैं। अखिलेश अगर विधानसभा चुनाव लड़ते हैं तो उन्हें लोकसभा की सदस्यता छोड़नी होगी। पिछले दिनों उन्होंने कहा भी था कि पार्टी जहां से कहेगी वहां से वह चुनाव मैदान में उतरने को तैयार हैं। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से चुनाव लड़ रहे हैं

 

✒️ *ओमिक्रॉन एलर्ट:दुनिया में 20.71 लाख नए संक्रमित , ऑस्ट्रेलिया में ओमिक्रॉन के रिकॉर्ड मामले, देश के दूसरे सबसे बड़े राज्य में लगा आपातकाल*

दुनिया में बीते दिन 20.71 लाख नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई है, जबकि 5,286 लोगों की मौत हुई है। नए संक्रमितों में अमेरिका 3.89 लाख मरीजों के साथ शीर्ष पर है। इस बीच, ऑस्ट्रेलिया के लिए मंगलवार महामारी का सबसे घातक दिन रहा, क्योंकि तेजी से बढ़ते ओमिक्रॉन के प्रकोप ने अस्पताल में भर्ती होने की दर रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा दी। देश के अस्पतालों में सिर्फ 12 फीसदी बिस्तर ही मुहैया हैं।ऑस्ट्रेलिया में अब ओमिक्रॉन का प्रकोप शीर्ष पर है और मंगलवार को 73,000 नए संक्रमित दर्ज किए गए। स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने निजी अस्पतालों के लिए देश भर के ओमिक्रॉन प्रभावित क्षेत्रों में 57,000 नर्सों और एक लाख से ज्यादा कर्मचारी भेजने की योजना को सक्रिय कर दिया है। योजना के तहत स्वास्थ्य कर्मियों की छुट्टियां रद्द भी की जा सकेंगी।

 

✒️ *उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: तीसरे व चौथे चरण के 118 दावेदारों पर भाजपा का मंथन, आज अलीगढ़ शहर सहित प्रत्याशियों पर अंतिम मुहर*

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण की एक और दूसरे चरण की पांच सीटें छोड़कर बाकी सभी पर प्रत्याशी घोषित कर चुकी भारतीय जनता पार्टी का मंथन अब तीसरे और चौथे चरण के प्रत्याशियों के चयन के लिए चल रहा है। दो दिन से दिल्ली में राष्ट्रीय और उत्तर प्रदेश नेतृत्व के साथ चल रही बैठकों में पैनलों में शामिल नामों पर इस लिहाज से भी विचार किया गया है कि इन दो चरणों में कहीं कड़ा मुकाबला हो सकता है तो कहीं भाजपा को अच्छी बढ़त की उम्मीद है। केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रत्याशियों के नाम पर अंतिम मुहर लग जाएगी।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर शहर और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को सिराथू से लड़ाए जाने की घोषणा के अतिरिक्त भाजपा पहले और दूसरे चरण की कुल 113 में से 107 प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। बची हुई पहले चरण की एक व दूसरे चरण की 5 सीटों के अलावा पार्टी ने तीसरे और चौथे चरण की 118 विधानसभा सीटों के प्रत्याशी तय करने के लिए कसरत शुरू कर दी है। सोमवार से ही उत्तर प्रदेश के शीर्ष नेता दिल्ली में जमे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुलाकात राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ हुई। इसके बाद पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में नड्डा के अलावा गृह मंत्री अमित शाह और प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान के साथ सीएम योगी, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल की लंबी बैठक चली। पार्टी सूत्रों ने बताया कि इन बैठकों में चर्चा पांचवें चरण की 61 सीटों के लिए भी हुई है। हर सीट के पैनल पर वरिष्ठ नेताओं ने विमर्श किया, लेकिन बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी प्रस्तावित केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रत्याशी तीसरे और चौथे चरण के लिए ही किए जाएंगे।वही अलीगढ़ की सीट पर आज घोषणा हो जायेगी, जानकारी के अनुसार विधायक संजीव राजा पर कोर्ट से राहत न मिलने पर पार्टी शहर विधायक की पत्नी को अलीगढ़ शहर से भाजपा का प्रत्याशी घोषित कर सकती है।

 

✒️ *शेयर बाजार में सुस्ती, खुलने के साथ ही सेंसेक्स 280 अंक से ज्यादा टूटा, निफ्टी भी लाल निशान पर*

सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन बुधवार को शेयर बाजार की शुरुआत सुस्ती के साथ हुई। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी सूचकांक लाल निशान पर खुला। सेंसेक्स ने जहां 287 अंक की गिरावट के साथ 60,467 के स्तर पर कारोबार शुरू किया, वहीं निफ्टी 83 अंक टूटकर 18,029 के स्तर पर खुला।

 

✒️ *प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुख्यमंत्री योगी पर साधा निशाना,प्रधानमंत्री मोदी पर भी किया कटाक्ष,बोलीं- भाजपा की सोच जगजाहिर*

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के प्रति उनकी और भाजपा की सोच जगजाहिर है। प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि कोविड के चलते महिला मैराथन का आयोजन बंद करना पड़ा लेकिन हमने आनलाइन प्रतियोगिताएं कराने का फैसला किया है।फेसबुक पर लाइव संवाद के दौरान प्रियंका से सवाल हुआ कि योगी आदित्यनाथ ने कभी अपने लेख में कहा था कि महिलाओं की ऊर्जा को नियंत्रित करने की जरूरत है। प्रश्नकर्ता ने इस पर प्रियंका की प्रतिक्रिया जाननी चाही। जवाब में प्रियंका ने कहा कि ‘महिलाओं की ऊर्जा को नियंत्रित करने की बात भाजपा, योगी आदित्यनाथ और उनकी पार्टी के नेताओं की महिलाओं के प्रति विचारधारा को स्पष्ट करता है। मैं इससे सहमत नहीं हूं। महिलाओं की ऊर्जा देश को बदल सकती है। महिलाओं की ऊर्जा, उनकी करुणा, प्रेम, विवेक, दृढ़ता उनके विशेष गुण हैं।’हस्तिनापुर सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार अर्चना गौतम से किये जा रहे सवालों पर उन्होंने कहा कि ऐसे सवाल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी या किसी पुरुष से क्यों नहीं किये जाते हैं? प्रधानमंत्री पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि हम समझते हैं कि आपके लिए काम करना हमारी ड्यूटी, हमारा धर्म है। हम काम करने के बदले एहसान नहीं जताते हैं। मोदी यह नहीं बताते कि पिछले पांच-सात साल में क्या हुआ। वह पूछते हैं कि 70 साल में क्या हुआ, लेकिन यह नहीं बताते कि खुद क्या किया। जबकि आज हम जिस बुनियाद पर खड़े हैं, वह पिछले 70 वर्षों में बनी है।

 

✒️ *अखिलेश के 300 यूनिट फ्री बिजली के वादे पर सीएम योगी का तंज- ‘बाप मार डारिस अंधियारे में, बेटवा बना बा पावर हाउस*

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के पहले चुनावी वादों का दौर भी शुरू हो चुका है। सभी राजनीतिक दल वोटरों को लुभाने के लिए वादे कर रहे हैं। इसी क्रम में समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेशवासियों के लिए बड़ा वादा किया है। उन्‍होंने विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद सत्ता में आने पर 300 यूनिट तक बिजली फ्री देने का वादा किया है। उनके इस वादे पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने तंज कसा है। मुफ्त बिजली देने के वादे को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के आफिस की ओर से अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए ट्वीट किया गया है। ट्वीट कर कहा गया है कि ‘बाप मार डारिस अंधियारे में, बेटवा बना बा पावर हाउस…#वायदे_आजम’।सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ‘अपना नाम लिखवाएं 300 यूनिट फ्री बिजली पाएं’ अभियान बुधवार से शुरू करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत सपा कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे। आनलाइन पंजीकरण भी होंगे। 300 यूनिट मुफ्त बिजली चाहने वालों से फार्म भरवाया जाएगा। पंजीकरण उसी नाम से होगा जिससे बिजली कनेक्शन होगा। घरेलू बिजली कनेक्शन चाहने वाले राशन कार्ड या आधार कार्ड में दर्ज नाम से पंजीकरण करवा सकेंगे। अखिलेश ने कहा कि इस बार जनता का ऐसा करंट लगेगा कि भाजपाइयों की जमानत जब्त हो जाएगी। सपा द्वारा भरवाए जाने वाले मुफ्त बिजली के फार्म में नाम, विधान सभा, शिक्षा, मोबाइल नंबर, परिवार के सदस्य व वर्तमान बिजली के बिल की जानकारी देनी होगी। सूत्रों के अनुसार सपा इसके जरिए एक बड़ा डेटाबैंक जुटाकर उसका इस्तेमाल चुनाव में डिजिटल प्रचार प्रसार में भी कर सकती है।

 

✒️ *उत्तर प्रदेश चुनाव 2022: विकास के लिए बसपा प्रमुख मायावती के साथ आए 10 राजनीतिक दल, समर्थन का किया ऐलान*

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में अकेले दम पर मैदान में उतरी बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के समर्थकों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मंगलवार को 10 राजनीतिक दलों के राष्ट्रीय अध्यक्षों ने बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीशचंद्र मिश्र से मिलकर समर्थन करने का ऐलान किया है। नेताओं ने मिश्र से कहा कि दस साल से प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त है। भुखमरी, बेरोजगारी से लोग परेशान हैं। लोकतंत्र की रक्षा-सुरक्षा व न्याय के लिए वे विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के साथ हैं।बसपा को समर्थन का ऐलान करने वाले नेताओं ने कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की नीतियों से वे समर्थन करने को प्रेरित हुए हैं। लोग चाहते हैं कि मायावती प्रदेश की पांचवीं बार मुख्यमंत्री बनें। बसपा नेता, सांसद व नेशनल मीडिया कोआर्डिनेटर मिश्र के कार्यालय पर पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्षों ने कोविड नियमों का पालन करते हुए अपना समर्थन दिया।पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्षों ने कहा कि प्रदेश की जनता पूरी तरह से भाजपा और सपा से प्रताड़ित हो चुकी है, एक पार्टी गुंडों का समर्थन करती है और दूसरी पार्टी गुंडों को संरक्षण देती है। विकास इन दोनों पार्टियों के शब्दकोष में है ही नहीं। यह भी कहा कि प्रदेश का विकास सही मायने में किसी पार्टी ने किया है तो वो मायावती के नेतृत्व में बहुजन समाज पार्टी ने किया है।

 

✒️ *उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले सपा को बड़ा झटका, मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव भाजपा में शामिल*

भारतीय जनता पार्टी से पिछड़ा वर्ग के कई नेताओं को तोड़कर ताकत बढ़ने का संदेश दे रहे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को सत्ताधारी दल ने बुधवार को बड़ा झटका दिया। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गईं। उनके साथ मुलायम के साढ़ू प्रमोद गुप्ता भी भाजपा में शामिल हो गए हैं। कुछ दिन पहले सपा संरक्षक के समधी हरिओम यादव भाजपा का दामन थाम चुके हैं।दिल्ली स्थित समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुईं। अपर्णा यादव के भाजपा में शामिल होने पर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मुलायम सिंह की पुत्रवधू होने के बावजूद भी अपर्णा यादव ने अपने विचार रखे हैं। काफी दिनों की चर्चा के बाद उन्होंने भाजपा में शामिल होने का फैसला लिया।

 

✒️ *अलीगढ़ में टीकाकरण को लेकर किशोरों में उत्‍साह, 10 दिन में सवा लाख को मिला सुरक्षा कवच*

अलीगढ़ में कोरोना वायरस व उसके नए वैरिएंट ओमिक्रोन के रफ्तार पकड़ते ही टीकाकरण केंद्रों पर लाभार्थियों की कतार नजर आने लगी है। तीन जनवरी को मौका मिलने के बाद अब किशोर (15 से 18 वर्ष) भी कोविड टीका लगवाने के लिए केंद्रों पर पहुंचने लगे हैं।माता-पिता खुद अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। मात्र 16 दिन में ही 1.24 लाख किशोरों ने कोवैक्सीन का टीका लगवा लिया है। वहीं, मात्र नौ दिनों करीब 12 हजार स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर व बुजुर्ग प्रिकाशन डोज (तीसरा सतर्कता टीका) ले चुके हैं। मंगलवार को कुल 24 हजार 965 लोगों को टीके लगाए गए। अब तक 41.88 लाख टीके लगाए जा चुके हैं।16 जनवरी 2021 को शुरू हुई कोविड टीकाकरण ड्राइव में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स व 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को टीके लगाए गए। इसके बाद 45 से 60 व 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को टीकाकरण का अवसर दिया गया। दिसंबर 2021 तक यही क्रम चला। इस बीच तीसरी लहर ने दस्तक दे दी, जिसमें बच्चों-किशोरों को सबसे ज्यादा खतरा बताया गया, क्योंकि उन्हें टीके नहीं लगे थे। वर्तमान में कुल संक्रमित रोगियों में 20 फीसद तक बच्चे-किशोर निकल रहे हैं। हालांकि, तीन जनवरी 2022 को सरकार ने 15 से 18 वर्ष आयु के किशोरों का टीकाकरण कर दिया है। मार्च में 12 से 15 वर्ष आयु के बच्चों को टीकाकरण की तैयारी शुरू हो गई है। संक्रमण बढ़ते ही माता-पिता अपने बच्चों को लेकर केंद्रों पर ले जाकर टीका लगवा रहे हैं। विभागीय टीमें स्कूल-कालेजों में पहुंचकर टीका लगा रही हैं।

 

✒️ *उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग: कड़ाके की ठंड में भी 40 लाख बच्चों को नहीं मिले स्वेटर,अफसरों की कार्यशैली पर सवाल*

इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है और शीतलहरी चलने से धूप बेअसर है। सरकार ने बेसिक शिक्षा परिषद व सहायताप्राप्त प्राथमिक विद्यालयों में पढऩे वाले बच्चों को ठंड से बचाने के लिए स्वेटर दिलाने के इंतजाम भी किए हैं लेकिन, अफसरों की कार्यशैली से सभी बच्चों को उसका लाभ अब तक नहीं मिल सका है। करीब 20 लाख बच्चों के अभिभावकों को जल्द धन मिलने जा रहा है, जबकि 40 लाख छात्र-छात्राओं को धन भेजने की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पा रही है।प्रदेश सरकार ने पहली बार प्राथमिक विद्यालयों में पढऩे वाले बच्चों को मुफ्त दी जाने वाली सामग्री खरीदने का जिम्मा अभिभावकों को सौंपा, हर छात्र को 1100 रुपये उनके बैंक खाते में भेजने का निर्देश दिया, ताकि उन्हें समय पर सारी सामग्री मिल जाए और उसकी गुणवत्ता पर भी सवाल भी नहीं उठे। ज्ञात हो कि पिछले वर्षों में स्वेटर आपूर्ति में देरी और जूता-मोजा व बैग की गुणवत्ता सही नहीं मिली थी। नवंबर में एक करोड़ 20 लाख छात्र-छात्राओं के अभिभावकों के खाते में धन भेजा जा चुका है।

 

✒️ *अलीगढ़ के कुलपति बोले, आगरा यूनिवर्सिटी में भी बना सकते हैं कार्यालय*

अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के कामकाज को सुचारू रूप से संपादित करने के लिए अगर अस्थाई कार्यालय के लिए जल्द जगह का चयन न हुआ तो डा. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा (आगरा यूनिवर्सिटी) में भी अस्थाई ठिकाना बन सकता है। इस बात के संकेत अलीगढ़ में बन रहे राजा महेंद्र सिंह राज्य विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. चंद्रशेखर ने दिए हैं।कुलपति ने बताया कि जिले में अस्थाई कार्यालय की तलाश में लगे हैं। इसके संबंध में उन्होंने कमिश्नर गौरव दयाल से जगह के संबंध में भी बात की थी। मुकुंदपुर और खैर क्षेत्र में जगह देखी थीं लेकिन गतिविधियों को संचालित करने के हिसाब से जगह सही नहीं लगीं। अभी प्रशासन से आश्वासन मिला है कि एक हफ्ते में जगह की व्यवस्था कराएंगे। अगर व्यवस्था नहीं हो सकी तो फिर आगरा यूनिवर्सिटी में ही कोई अस्थाई तौर पर व्यवस्था बनाने पर विचार किया जा सकता है। राज्य विश्वविद्यालय के शुरुआती काम भी प्रभावित हो रहे हैं। रजिस्ट्रार व फाइनेंस आफिसर भी तैनात हो चुके हैं। पहले चरण में मंडल के 400 विद्यालयों को संबद्ध किया जाना है। लक्ष्य है कि 2022-23 से ही सत्र का संचालन हो, इसलिए अस्थाई कार्यालय की जरूरत है। कार्यालय शुरू होने के बाद ही सत्र संचालन के बारे में सोचा जा सकता है।

 

✒️ *विधानसभा चुनाव:अलीगढ़ शहर से सपा के रणबांकुर जफर आलम करोड़ों के मालिक फिर भी नहीं है एक भी जेवरात*

सपा की शहर विधानसभा सीट से 76 वर्षीय प्रत्याशी जफर आलम एएमयू से बीएससी इंजीनियरिंग की है। नामांकन में दिए गए ब्यौरे के अनुसार यह करोड़ों के मालिक हैं। इनके पास 6.80 करोड़ की चल संपत्ति है। इसमें 2.5 लाख की नकदी, चार खातों में 70 लाख व लिंक लाक में 5.36 लाख के शेयर हैं। इसके अलावा दो मर्सिडीज व एक हुंडई कार भी हैं। रिवाल्वर व बंदूक भी इनके पास है। हालांकि, यह जेवरात पहनने के शौकीन नहीं हैं। इसके अलावा पत्नी फरीदा जफर के पास भी 3.27 करोड़ की चल संपत्ति है। इसमें एक लाख नकद, 42 लाख खाते में जमा हैं। तीन लाख के लिंक लाक में शेयर हैं। वहीं पौने तीन करोड़ के करीब सोना भी इनके पास है। अचल संपत्ति में जफर आलम के पास 23.70 करोड़ की धनराशि है। इसमें कृषि भूमि के साथ ही वाणिज्यक भवन, आवासीय भवन व फ्लैट शामिल हैं। वहीं, पत्नी पर भी करीब 12.65 करोड़ की अचल संपत्ति है। इसमें वाणिज्यक भवन के अलावा एक मकान व एक फ्लैट भी शामिल है। जफर आलम के खिलाफ 2009 में आचार संहिता उल्लंघन का एक मुकदमा भी लंबित है। सीजेएम कोर्ट से इस पर फैसला आना बाकी है।

 

✒️ *विधानसभा चुनाव:बसपा के बरौली प्रत्याशी नरेंद्र कुमार शर्मा पर नहीं है कोई भी असलहा*

बसपा के बरौली प्रत्याशी नरेंद्र कुमार शर्मा बीटेक पास हैं। इनके पास कुल 41 लाख की चल संपत्ति है। इसमें 1.90 लाख नकद, 83 हजार बैंक खाते में व 66 हजार के अलग-अलग कंपनियों में शेयर हैं। वाहनों में इनके पास 33 लाख की कीमत की दो कार हैं। डेढ़ लाख का 30 ग्राम सोना है। वहीं, यह असलहा रखने के शौकीन नहीं हैं। वहीं पत्नी प्रीति शर्मा के पास भी 3.33 लाख की चल संपत्ति है। इसमें नकदी व सोना शामिल है। अचल में नरेंद्र कुमार शर्मा के पास 1.40 करोड़ की संपत्ति है। इसमें कृषि भूमि के अलावा आवासीय व व्यवसायिक भवन भी शामिल हैं। पत्नी के पास 10 लाख की अचल संपत्ति है।

 

 

🔴 *अलीगढ़ में अब तक कोरोना के आंकड़ें*

🟨 *कुल जाँच-19,24,958*

🟦 *सैंपल जांच:2,663*

🟥 *संक्रमित-23,759*

🟥 *आज के संक्रमित:229*

🟥 *कुल मृत: 108*

🟩 *कुल डिस्चार्ज:22,147*

🟦 *संक्रमित:1,287एक्टिव*