November 27, 2021

उतर भारत का विशाल बीएचयू चिकित्सा संकुल सेवा को तैयार …

Spread the love

० शताब्दी सुपर स्पेशियलिटी में ओपीडी सेवा का 11 फरवरी से होगा शुभारंभ
० पीएम मोदी 19 को महामना कैंसर संस्थान और शताब्दी सुपर स्पेशियलिटी काम्प्लेक्स का मरीजों को देगे सौगात
० हर विभाग में 6-6 के अलावा 45 आईसीयू, 13 माड्युलर ओटी ,अत्याधुनिक जांच की सुविधाओं से लैस रहेगा अस्पताल -प्रो वी एन मिश्र
@ हरेन्द्र शुक्ला
वाराणसी। उत्तर भारत के सबसे विशाल चिकित्सा संकुल के रूप में उभरे बीएचयू चिकित्सा विज्ञान संस्थान के सर सुंदरलाल अस्पताल की सेवाओं के लिए जनता को अब बहुत इंतजार नहीं करना पड़ेगा । उद्घाटन की औपचारिकता को अलग रखकर मरीजों को तत्काल सेवाएं उपलब्ध कराने की पीएम नरेंद्र मोदी की अपील की मद्देनजर अस्पताल शीघ्र ही मरीजों का सहारा बनेगा । पीएम नरेन्द्र मोदी 19 फरवरी को 600 करोड की लागत से बीएचयू सुन्दर बगिया में निर्मित देश का दुसरा सबसे बडा 350 शैय्या का महामना कैंसर संस्थान और 200 करोड की लागत से बनने वाले शताब्दी सुपर स्पेशियलिटी काम्पलेक्स का लोकार्पण करेगें । इसके पूर्व वसंत पंचमी के पूजन के बाद 11 फरवरी को सुपर स्पेशियलिटी काम्प्लेक्स में न्यूरोलाजी विभाग की बहिरंग ( ओपीडी) सेवा शुरू कर दी जायेगी। इस आशय की खुशखबरी आज सर सुंदरलाल अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर विजय नाथ मिश्रा ने पत्रकार वार्ता में पत्रकारों को दी। उन्होंने बताया कि सुपर स्पेशियलिटी, महामना कैंसर संस्थान , ट्रांमा सेंटर ,क्षेत्रीय नेत्र संस्थान ,बोन मैरो ट्रांसप्लांट सेंटर, डेंटल संस्थान, और मानसिक रोग संस्थान आदि की एक साथ एक ही जगह उपलब्ध सुविधाओं ने काशी को चिकित्सा सेवा का एक विशाल हब बना दिया है । प्रो मिश्र ने बताया कि शताब्दी सुपर स्पेशियलिटी काम्प्लेक्स में न्यूरोलॉजी, न्यूरोसर्जरी, कॉर्डियोलॉजी, कॉर्डियोथोरेसिक, इण्डोक्राइनोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी और गेस्ट्रोइन्ट्रोलॉजी विभाग के रेफरल मरीजों का इलाज होगा। इस काम्प्लेक्स में 13 माड्युलर आपरेशन थियेटर, हर विभाग में 6-6 आईसीयु के अलावा 45 आइसीयु होगा। इसके अलावा मोबाइल एक्स -रे, अल्ट्रासाउंड, जन औषधि केन्द्र से रियायती दरों पर दवाइयां उपलब्ध होगी। मरीजों की सुविधा के दृष्टिगत एचडीएफसी बैंक के 4 नये काउंटर भी भूतल पर स्थापित किया गया है जहां पर्ची, जांच , भर्ती के लिए भुगतान की सुविधा बिना समय गवाये मिलेगी। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने बताया कि न्यूरोलाजी के क्षेत्र में दुनियां के देशों भारत का लोहा मनवाने वाले प्रो बी सी कटियार, प्रो माधुरी बिहारी, प्रो उषाकांत मिश्र, प्रो वाडिया सहित 30 न्यूरोलाजिस्टों की चित्रकार डा शारदा सिंह द्वारा बनाई गयी पोट्रेट से प्रथम तल पर न्यूरोमेडिसिन की गैलरी सजाई जायेगी जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री करेगें।