May 24, 2022

अधिकारी अपने विभागीय कार्यप्रणाली में सुधार लाए-जिलाधिकारी-

Spread the love

वाराणसी/दिनांक 23 अप्रैल, 2022(सू0वि0)

*अधिकारी अपने विभागीय कार्यप्रणाली में सुधार लाए-जिलाधिकारी*

*जनहित के प्रकरणों को प्राथमिकता पर गुणवत्ता के साथ निस्तारण करें-कौशल राज शर्मा*

*जनसमस्याओं के निस्तारण में किसी भी स्तर पर शिथिलता अथवा लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी-डीएम*

*सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर डॉक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की रात्रि में उपलब्धता रहे*

*तहसील, ब्लाक एवं ग्रामीण स्तर पर तैनात अधिकारी/कर्मचारियों को अपने तैनाती स्थल पर ही रात्रि निवास करें*

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने जनपद स्तरीय सभी विभागीय अधिकारियों को अपने विभागीय कार्यप्रणाली में सुधार लाए जाने एवं जनहित के प्रकरणों को प्राथमिकता के आधार पर तत्काल गुणवत्ता के साथ निस्तारण किए जाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि जनसमस्याओं के निस्तारण में किसी भी स्तर पर शिथिलता अथवा लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा शनिवार को कैंप कार्यालय सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। श्री शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय में कतिपय जांच की मशीन खराब होने की जानकारी पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को तत्काल मशीन को दुरुस्त कराए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर डॉक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की रात्रि में उपलब्धता सुनिश्चित कराए जाने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने इसका स्थलीय निरीक्षण कराये जाने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि टेलिफोनिक सूचना मिलने के तत्काल बाद लोगों की आवश्यकतानुसार एंबुलेंस समय से उन्हें उपलब्ध हो। इसके संचालन पर पैनी नजर रखी जाए। पेयजल एवं सीवर की समस्या को संज्ञान में लेते हुए जिलाधिकारी ने नगर निगम के अधिकारी को आड़े हाथों लिया हो तत्काल निस्तारण का निर्देश दिया। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि भीषण गर्मी पड़ रही है। ऐसी स्थिति में पेयजल एवं सीवर की समस्या की जानकारी होते ही इसे तत्काल निस्तारित कराया जाए। उन्होंने खराब पड़े हैंडपंपों को एक सप्ताह के अंदर दुरुस्त कराए जाने का निर्देश दिया। ग्रामीण क्षेत्रों में बंद पड़े नलकूपों एवं खराब हैंडपंपों की जानकारी पर भी उन्होंने गहरी नाराजगी जताते हुए अतिशीघ्र दुरुस्त कराए जाने का निर्देश दिया। इस संबंध में उन्होंने विभागीय अभियंता से खराब नलकूप के संबंध में प्राप्त होने वाली सूचना के बाबत जानकारी की। विभागीय अभियंता द्वारा संतोषजनक जानकारी न दिए जाने पर विभागीय शिकायत प्रभारी का अप्रैल माह का वेतन अदेय किए जाने का निर्देश दिया। खराब नलकूपों को 24 घंटे के अंदर दुरुस्त कराए जाने का निर्देश दिया। यूपी एग्रो द्वारा लगाए गए हैंडपंपों की सूची उपलब्ध न कराए जाने पर नाराजगी जताते हुए कारण बताओ नोटिस जारी की तथा विभागीय अधिकारी को सचेत किया कि लक्ष्य के अनुरूप सभी हैंडपंप एक माह के अंदर प्रत्येक दशा में स्थापित हो जाना चाहिए। अन्यथा उनके विरुद्ध निलंबन एवं विभागीय कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाएगी।जिलाधिकारी ने विभागीय अधिकारी को निर्देशित किया कि लक्ष्य के अनुरूप सभी हैंडपंप एक माह के अंदर प्रत्येक दशा में स्थापित हो जाना चाहिए। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को हैंडपंपों की मानिटरिंग सही तरीके से सुनिश्चित कराए जाने तथा इसके लिए खंड विकास अधिकारियों की जिम्मेदारी सुनिश्चित कराए जाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने तहसील, ब्लाक एवं ग्रामीण स्तर पर तैनात अधिकारी/कर्मचारियों को अपने तैनाती स्थल पर ही रात्रि विश्राम किए जाने का निर्देश दिया। स्टेडियम में खिलाड़ियों के लिए पीने की पानी सहित अन्य व्यवस्था दुरुस्त रखा जाए। ऑटो रिक्शा चालकों द्वारा निर्धारित दर से अधिक किराया वसूली किए जाने तथा डग्गामार वाहनों के संचालन की जानकारी पर संभागीय परिवहन अधिकारी को नाराजगी व्यक्त करते हुए, इसका चेकिंग कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होंने निर्देशित किया कि निर्धारित मूल्य से अधिक ऑटो रिक्शा चालक किराया कतई वसूलने न पाए। उन्होंने स्कूली बसों का अभियान चलाकर जांच कराए जाने का निर्देश दिया। जन औषधि केंद्रों पर दवाओं का पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराए जाने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं औषधि निरीक्षक को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के अभियंता को निर्देशित करते हुए कहा कि सड़कों का गढ्डा मुक्ति कार्य अभियान चलाकर कराएं। सड़कों पर कहीं भी गड्ढे नजर नहीं आने चाहिए।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल सहित जनपद स्तरीय विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।