October 21, 2021

अगर विकास विरोधी नहीं है तो उद्योगपतियों के नाम से जनता को गुमराह करना बन्द करे विपक्षी दल : सुनील साहू

Spread the love

भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश महामंत्री सुनील साहू ने विपक्षियों को डी चुनौती और कहा कि अगर विकास विरोधी नहीं है तो उद्योगपतियों के नाम से जनता को गुमराह करना बन्द करे.
भूमि अधिग्रहण कानून के सिर्फ धारा १०(क) को आंशिक सरलीकरण किया गया है ! वह भी इसलिए कि जनहित में विकास कार्य को गति मिल सके और पूर्व में जो हजारों लाखों लोगों के साथ धोखाधड़ी हुआ है वह आगे ना हो सके !
झारखण्ड में अब सरकारी योजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण छह माह में हो पायेगा और इससे ना केवल सरकारी योजनाओं को लागू करने में तेजी आयेगी , बल्कि भूमि मालिकों को भी मुआवजे के लिए इंतजार नहीं करना होगा !
इतना ही नहीं भूमि मालिकों को भूमि के एवज में चार गुणा मुआवजे का भुगतान आठ माह में ही हो सकेगा !
भूमि का अधिग्रहण किसी भी उद्योग के लिए नहीं बल्कि विद्यालय , महाविद्यालय , विश्वविद्यालय , अस्पताल , पंचायत भवन , आँगनबाड़ी केन्द्र , रेल , सड़क , जलमार्ग , विद्युतिकरण , सिंचाई , आर्थिक रुप से कमजोर लोगों के लिए आवास , जलापूर्ति पाइप लाइन , ट्रांसमिशन व सरकारी भवनों के निर्माण के लिए किया जायेगा !
कुछ लोग कहते हैं कि पहले ये सब नहीं होता था ? होता था , परन्तु धीमी गति से और वह भी बेजगह जैसे – गाँव में सरकारी जमीन नहीं होने के कारण आँगनबाड़ी केन्द्र गाँव में नहीं बनाकर पाँच किलोमीटर दूर बनाना मजबूरी रही ! अब उचित विकास कार्य उचित स्थान पर होंगे !